न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नवाज शरीफ, मरियम की जेल से बाहर आने की उम्मीद टूटी, कोर्ट ने सुनवाई टाली

पाकिस्तान की एक अदालत ने जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी और दामाद की अपीलों पर सुनवाई जुलाई के अंतिम हफ्ते तक के लिए टाल दी है.

438

Islamabad : पाकिस्तान की एक अदालत ने जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, उनकी बेटी और दामाद की अपीलों पर सुनवाई जुलाई के अंतिम हफ्ते तक के लिए टाल दी है. उन्होंने भ्रष्टाचार के मामले में दोषी करार दिए जाने के खिलाफ अपील की है. इसके साथ ही चुनाव से पहले जेल से बाहर आने और अपनी पार्टी के अभियान में जान फूंकने की उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फिर गया है.

पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं और 68 वर्षीय शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) चुनाव के मद्देनजर उनकी जल्द रिहाई की उम्मीद लगाकर बैठी थी. शरीफ, उनकी बेटी मरियम और दामाद कैप्टन (सेवानिवृत्त) मोहम्मद सफदर ने सोमवार को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय में एवनफिल्ड भ्रष्टाचार मामले में फैसले को चुनौती देते हुए अपील दायर की थी.

Aqua Spa Salon 5/02/2020
इसे भी पढ़े-मानसून सत्र 18 से, पीएम ने सत्र सुचारू रूप से चलाने के लिए सभी दलों से मांगा सहयोग  
Related Posts

#American_Experts की नजर में ट्रम्प की भारत यात्रा पूरी तरह सफल रहेगी  

व्हाइट हाउस ने इस सप्ताह घोषणा की कि ट्रम्प का प्रथम महिला के साथ 24 और 25 फरवरी को अहमदाबाद तथा नयी दिल्ली की यात्रा करने का कार्यक्रम है.

पीठ ने मामले पर सुनवाई जुलाई के अंतिम हफ्ते तक के लिए टाल दी

न्यायमूर्ति मोहसीन अख्तर कयानी और न्यायमूर्ति मियांगुल हसन औरंगजेब की दो सदस्यीय पीठ ने उनकी अपीलों पर सुनवाई की थी और राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो को नोटिस जारी किये थे. साथ ही मामले के रिकॉर्ड पेश करने का भी आदेश दिया था. पीठ ने मामले पर सुनवाई जुलाई के अंतिम हफ्ते तक के लिए टाल दी. इसका मतलब है कि सुनवाई 25 जुलाई के बाद होगी. अदालत ने अपीलों पर फैसला होने तक मामले में दोषसिद्धि को निलंबित करने से भी इनकार कर दिया. इससे पहले शरीफ के करीबी पीएमएल-एन के नेता परवेज राशिद ने अदालत से कहा था कि वह इन अपीलों पर बिना समय गंवाए फैसला लें.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like