Lead NewsNationalSports

एक्शन में नवजोत सिद्धू : निभाई दोस्ती,परगट सिंह को पंजाब कांग्रेस महासचिव नियुक्त किया

भारतीय हॉकी टीम के कैप्टन रहे परगट लंबे समय से सिद्धू का दे रहे हैं साथ

New Delhi : पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू एक्शन मोड में हैं. प्रदेश कांग्रेस प्रधान पद की जिम्मेदारी संभालते ही सिद्धू ने संगठन में भारी फेरबदल की पहल करते हुए सोमवार को विधायक परगट सिंह को भी अपनी टीम में शामिल करते हुए प्रदेश महासचिव की बड़ी जिम्मेदारी सौंपते हुए उनसे अपनी दोस्ती निभाई है.

परगट सिंह सिद्धू के करीबी रहे हैं और सिद्धू के साथ खड़े होकर सीएम कैप्टन अमरिदंर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोलने वालों में सबसे आगे रहे हैं. जालंधर कैंट से विधायक परगट भी खेल की दुनिया से सियासी दुनिया में आए हैं. भारतीय हॉकी टीम के कैप्टन रहे परगट तब से सिद्धू के साथ हैं जब सिद्धू ने आवाज ए पंजाब फोरम बनाया था.

इसे भी पढ़ें :झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारी ऑनलाइन परफॉर्मेंस अप्रेजल नहीं कर रहे जमा, होगी कार्रवाई, 350 से अधिक अधिकारी चिह्नित

ram janam hospital
Catalyst IAS

सिद्धू ने दिया ये बयान

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

नवजोत सिद्धू ने सोमवार सुबह सोशल मीडिया के जरिए प्रेस को जारी बयान में कहा है कि कांग्रेस प्रधान सोनिया गांधी, संगठन सचिव केसी वेणुगोपाल व पंजाब कांग्रेस इंचार्ज हरीश रावत की मंजूरी से प्रगट सिंह की नियुक्ति की जा रही है. सिद्धू की यह बात सीधे तौर पर पंजाब कांग्रेस में किसी तरह के विरोध को दबाना है.

इसे भी पढ़ें :कांग्रेस को बड़ा झटका, महिला इकाई की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने दिया इस्तीफा

परगट सिंह ने कैप्टन सरकार पर उठाया था सवाल

वहीं, कैप्टन अमरिंदर सिंह व उनके खेमे को भी संदेश देना है कि हर काम कांग्रेस हाईकमान की मंजूरी से किया जा रहा है. परगट को संगठन में बड़ी जिम्मेदारी इसलिए अहम है क्योंकि परगट सिंह ने कैप्टन पर सीधा करते हुए कहा था कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई में कांग्रेस अगला विधानसभा चुनाव नहीं जीत सकती. बेअदबी से लेकर नशे के मुद्दे तक परगट सिंह ने कैप्टन सरकार को घेरा था.

इसे भी पढ़ें :पशुपालन विभाग के सेवानिवृत्त कर्मचारी ने पांचवीं मंजिल से कूदकर दी जान

कैबिनेट में बदलाव नहीं कर पाए हैं अमरिंदर सिंह

कैप्टन अमरिंदर सिंह अभी तक कैबिनेट में बदलाव नहीं कर पाए हैं. हालांकि कुछ दिन पहले ही कैप्टन दिल्ली जाकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को मिल चुके हैं. इसके बावजूद अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ. इसके उलट एक्शन मोड में नवजोत सिद्धू ने अपने 4 सलाहकार लगा दिए और अब महासचिव भी नियुक्त कर दिया है. इसी महीने जिला स्तर पर प्रधान व पूरे संगठन के पदाधिकारी नियुक्त करने की तैयारी है.

इसे भी पढ़ें :काबुल एयरपोर्ट पर अफरातफरी, प्लेन में चढ़ने के लिए ट्रेन के जेनरल डिब्बे जैसी मारामारी, देखें VIDEO

Related Articles

Back to top button