न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चंडीगढ़ से टिकट नहीं मिलने पर नाराजगी से नवजोत का इनकार, कहा- कांग्रेस के लिए दिल से करूंगी प्रचार

चंडीगढ़ से चुनाव लड़ना चाहती थीं नवजोत कौर सिद्धू, कांग्रेस ने पवन बंसल पर जताया भरोसा

507

Chandigarh: पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी और कांग्रेस नेता नवजोत कौर सिद्धू चंडीगढ़ से टिकट नहीं मिलने से निराश दिखीं. हालांकि उन्होंने साफ कहा कि वो या उनके पति सिद्धू पार्टी से नाराज नहीं हैं. और पार्टी का फैसला उन्हें मान्य है.

दरअसल, नवजोत कौर ने चंडीगढ़ से चुनाव लड़ने की पेशकश की थी और पार्टी की ओर से उम्मीदवार उतारने से पहले ही उन्होंने जनसभाएं शुरू कर दी थीं. लेकिन पार्टी नेतृत्व ने उनकी पेशकश को खारिज करते हुए पवन बंसल को वहां से प्रत्याशी बनाया है.

इसे भी पढ़ेंःशाह के बयान पर बोलीं महबूबाः धारा 370 खत्म करेंगे तो भारत से नाता तोड़ लेगा कश्मीर

पार्टी के फैसले से निराश नवजोत कौर

भले ही पूर्व विधायक एवं कांग्रेस नेता नवजोत कौर सिद्धू लोकसभा चुनाव में चंडीगढ़ से टिकट नहीं मिल पाने से पार्टी से किसी तरह की नाराजगी से इनकार कर रही हों, लेकिन वो निराशा छिपा नहीं सकीं.

नवजोत कौर ने पीटीआई से बुधवार को कहा, “मुझे खुशी होती अगर वे उस महिला का सम्मान करते जो अपने व्यक्तिगत कार्यों को दिखाने का प्रयास कर रही है.”

इसे भी पढ़ेंःजिस जमीन खरीद मामले में हेमंत पर बीजेपी लगाती है आरोप, उसी मामले में जांच से बीजेपी सरकार ने खींच…

Related Posts

जमानत के विरोध पर  #CBI पर पी चिदंबरम का तंज, मैं उड़कर चांद पर चला जाऊंगा, होगी मेरी सेफ लैंडिंग

ट्वीट में  बिना नाम लिये चांद, चंद्रयान 2 का जिक्र करते हुए सीबीआई पर निशाना साधा  गया है.

कौर ने कहा कि उन्होंने खुद को राजनीति के प्रति समर्पित करने के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ का अपना पेशा भी छोड़ दिया. अमृतसर (पूर्व) से पूर्व भाजपा विधायक कौर ने कहा, “लेकिन ठीक है. पार्टी इसी तरह काम करती है.”

पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर और पूर्व केन्द्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले चंडीगढ़ से चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी पेश की थी. नवजोत कौर ने कहा कि वे प्रचार अभियान में कांग्रेस का साथ देंगी.

उन्होंने कहा, ‘नवजोत सिंह सिद्धू पूरे देश में कांग्रेस के लिए और मैं पंजाब में कांग्रेस के लिए दिल से प्रचार करूंगी. हम पार्टी के साथ खड़े थे और खड़े रहेंगे. टिकट देना या ना देना ये पार्टी का फैसला है जो हमें मान्य है.’

बता दें कि इस सीट पर 2014 में भाजपा उम्मीदवार किरण खेर को जीत हासिल हुई थी. ज्ञात हो कि चंडीगढ़ में 19 मई को मतदान होना है.

इसे भी पढ़ेंःशराब को लेकर पूरे झारखंड में मारामारी, ब्लैक में बिक रही शराब, दुकान न खुलने से हो रही परेशानी,

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्या आपको लगता है हम स्वतंत्र और निष्पक्ष पत्रकारिता कर रहे हैं. अगर हां, तो इसे बचाने के लिए हमें आर्थिक मदद करें.
आप अखबारों को हर दिन 5 रूपये देते हैं. टीवी न्यूज के पैसे देते हैं. हमें हर दिन 1 रूपये और महीने में 30 रूपये देकर हमारी मदद करें.
मदद करने के लिए यहां क्लिक करें.-

you're currently offline

%d bloggers like this: