JamshedpurJharkhand

नवीन पटनायक ने जोड़ा ईस्ट खदान में टाटा स्टील के टाटा स्टील के बेनेफिसिएशन प्लांट की नींव रखी

Jamshedpur : ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सोमवार को जोड़ा ईस्ट आयरन माइंस (जेईआईएम) में टाटा स्टील द्वारा स्थापित किये जानेवाले  बेनेफिसिएशन प्लांट की आधारशिला रखी. टाटा स्टील के वरीय अधिकारियों ने इस कार्यक्रम में वर्चुअली हिस्सा लिया. इस मौके पर टाटा स्टील के वीपी (रॉ मेटेरियल्स) डीबी सुंदर रामम ने कहा कि स्टील निर्माण के लिए कच्चा माल अति-आवश्यक है. आने वाले महीनों में यह बेनेफिसिएशन प्लांट हमारे विस्तारीकरण लक्ष्य को पूरा करने में हमें रणनीतिक लाभ प्रदान करेगा. उन्होंने कहा कि कंपनी ओडिशा और इसकी जनता के विकास में अपनी निरंतर भागीदारी निभा रही है. उन्होंने कंपनी को सहयोग देने के लिए ओडिशा सरकार का आभार व्यक्त किया. टाटा स्टील की एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गयी.

विज्ञप्ति के अनुसार जोड़ा ईस्ट आयरन माइंस 1956 से कार्यरत है और इस खदान से निकले लौह अयस्क की आपूर्ति जमशेदपुर, कलिंगानगर, मेरामंडली (ओडिशा के ढेंकेनाल) में  कंपनी के स्टील प्लांटों के साथ-साथ इसकी सहायक व सहयोगी कंपनियों और टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट्स गम्हरिया (झारखंड के सरायकेला-खरसावां) को की जाती है. कंपनी के अनुसार पर्यावरण प्रबंधन हमेशा से टाटा स्टील के परिचालन का एक मुख्य हिस्सा रहा है. वायु, ध्वनि, सतही जल की गुणवत्ता और भूजल स्तर और इसकी गुणवत्ता की नियमित निगरानी की जाती है और पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाए रखने के लिए पर्याप्त कदम उठाये जाते हैं.

इसे भी पढ़ें – चाकुलिया : सांसद ने सुदूर गांव में बांटे कंबल, लाउबेड़ा में लगेगी शहीद ठाकुर हेंब्रम की प्रतिमा

ram janam hospital
Catalyst IAS

Related Articles

Back to top button