न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी रांची देश की दूसरी सबसे महंगी यूनिवर्सिटी, सिर्फ सीट में आरक्षण फीस में नहीं 

936

Rahul Guru

Ranchi : देश में 27 लॉ यूनिवर्सिटी हैं, जो पांच वर्षीय एलएलबी और दो वर्षीय एलएलएम की पढ़ाई कराते हैं. कानून की पढ़ाई देश में कितनी महंगी हो गयी है. इसे इन विश्वविद्यालयों की फीस से ही समझा जा सकता है. देश की शीर्ष 27 लॉ यूनिवर्सिटी में शामिल है, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ, रांची.

लॉ की पढ़ाई कराने वाली स       भी 27 विश्वविद्यालयों में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी रांची दूसरी सबसे महंगी यूनिवर्सिटी है. यहां पांच साल के एलएलबी की फीस 3, 99000 रुपये है. जबकि पहले स्थान पर नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, मुंबई है. इसकी फीस 4,72000 रुपये है.

इसे भी पढ़ें – जानिये उन संगीन आरोपों को जो बन सकते हैं रघुवर के लिए आफत, कानूनी पेंच में उलझ सकते हैं पूर्व सीएम

सीट में है आरक्षण, फीस में नहीं

क्लैट कंसोर्टियम की वेबसाइट पर देश के सभी लॉ यूनिवर्सिटी का प्रोसपेक्टस दिया गया है. जिसमें इस बात की जानकारी दी गयी है कि किस लॉ यूनिवर्सिटी में एलएलबी कोर्स में नामांकन की फीस कितनी है. सीटों की संख्या कितनी है.

Whmart 3/3 – 2/4

वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के अनुसार, 27 लॉ यूनिवर्सिटी में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी ऐसी यूनिवर्सिटी है, जहां झारखंड के विद्यार्थियों के लिए सीट तो आरक्षित है. लेकिन फीस में किसी तरह का आरक्षण नहीं दिया गया है.

साथ ही एलएलबी में 120 सीट में से 60 सीट और एलएलएम में 40 सीट में से 20 सीट झारखंड के विद्यार्थियों के लिए तय है. यहां एलएलबी की फीस दो साल मिलाकर 3,99000 और एलएलएम के पूरे कोर्स की फीस 2,03000 रुपये है.

जबकि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी मुंबई, नागपुर, महाराष्ट्र में वहां के डोमेसाइल वाले विद्यार्थियों की फीस अलग ही निर्धारित है.

एलएलबी-एलएलएम में झारखंड के विद्यार्थियों की सीट

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के एलएलएम कोर्स में कुल 40 सीट है. जिसमें 20 सीट झारखंड के लिए सुरक्षित है. इसमें 09 सीट सामान्य श्रेणी के स्टूडेंट के लिए, 1 सीट सामान्य श्रेणी के इबीसी स्टूडेंट के लिए, 04 सीट एसटी, 02 सीट एससी, 02 सीट इबीसी और 02 सीट बीसी श्रेणी के उम्मीदवार के लिए है.

इसी तरह एलएलबी में कुल 120 सीट हैं. इसमें 60 सीट झारखंड के बच्चों के लिए है. इसमें 27 सीट सामान्य श्रेणी के स्टूडेंट के लिए, 03 सीट सामान्य श्रेणी के इबीसी स्टूडेंट के लिए, 16 सीट एसटी, 06 सीट एससी, 05 सीट इबीसी और 03 सीट बीसी श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए है.

इसे भी पढ़ें – मध्य प्रदेशः शहडोल के सरकारी अस्पताल में 12 घंटों में छह आदिवासी बच्चों की मौत, जांच के आदेश

देश की 27 लॉ यूनिवर्सिटी में फीस (आंकड़े रुपये में)

एनएलएसआइयू, बेंगलुरू

बीए एलएलबी : 262000 (सामान्य), 258875  (एससी-एसटी)

एलएलएम : 189500  (सामान्य), 186375  (एससी-एसटी)

नालसर, हैदराबाद

बीए एलएलबी : 2, 47000

एलएलएम : 175000

 

एनएलआइयू भोपाल

बीए एलएलबी : 248750

एलएलएम : 214750

 

डब्ल्यूबीएनयूजेएस, कोलकाता

बीए एलएलबी : 1,96200

एलएलएम : 1,45000

 

एनएलयू जोधपुर

बीए एलएलबी : 1,44000

एलएलएम : 1,14000

 

एचएनएलयू रायपुर

बीए एलएलबी : 1,75000

एलएलएम : 1,03500

 

जीएनएलयू, गांधीनगर

बीए एलएलबी : 2,37000

एलएलएम : 2,07000

 

आरएमएलएनएलयू, लखनऊ

बीए एलएलबी : 1,53000

एलएलएम : 1,13000

 

आरजीएनयूएल, पंजाब

बीए एलएलबी : 2,11000

एलएलएम : 1,65000

 

सीएनएलयू, पटना

बीए एलएलबी : 1,91000

 

एनयूएएलएस, कोच्ची

एलएलबी : 1,99000

एलएलएम : 1,48000

 

एनएलयूओ, ओडिशा

एलएलबी : 2,11000

एलएलएम : 1,51000

 

एनयूएसआरएल, रांची

एलएलबी : 3,99000

एलएलएम : 2,03000

 

एनएलयूजेए, असम

एलएलबी : 2,19000

एलएलएम : 1,89500

 

डीएसएनएलयू, विशाखापत्तनम

एलएलबी : 200000

एलएलएम : 1,80000

 

टीएनएनएलयू, त्रिची

एलएलबी : 2,23000

एलएलएम : 1,74000

 

एमएनएलयू, मुंबई

एलएलबी : 4,72000

एलएलएम : 2,26000

एमएनएलयू, नागपुर

एलएलबी : 2,47000

एलएलएम : 1,73000

 

एमएनएलयू, औरंगाबाद

एलएलबी : 2,23017

 

एचपीएनएलयू, शिमला

एलएलबी : 2,20500

एलएलएम : 1,71500

 

डीएनएलयू, जबलपुर

एलएलबी : 2,60000

 

डीबीआरएएनएलयू, हरियाणा

एलएलबी : 2,02000

इसे भी पढ़ें –#EconomySlowdown: खुदरा मुद्रास्फीति ने दिसंबर में लांघी लक्ष्मण रेखा, 7.35 % के साथ 5 साल के उच्चतम स्तर पर

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like