न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड को सुलझाने में लगी है रांची पुलिस की विशेष अनुसंधान टीम

पुलिस को है हत्या के पीछे किसी करीबी के हाथ होने का संदेह

148

Ranchi : नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड को सुलझाने के लिए रांची पुलिस की विशेष अनुसंधान टीम लगी हुई है. नरेंद्र सिंह होरा के हत्या के पीछे किसी करीबी व्यक्ति के हाथ होने का संदेह पुलिस को हो रहा है. घटना को जिस तरह से अंजाम दिया गया उसी के आधार पर पुलिस को किसी करीबी व्यक्ति के ऊपर संदेह हो रहा है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 14 टीमें अलग अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है. पुलिस ने अभी तक छापेमारी करते हुए कुल 22 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. जिसमें नरेंद्र सिंह होरा के यहां काम करने वाले एक मजदूर भी हैं.

इसे भी पढ़ें :नरेंद्र सिंह होरा की हत्या के विरोध में सिख समुदाय के लोगों ने सुजाता चौक किया जाम

सीसीटीवी में दिख रहे हैं तीन अपराधी

रांची पुलिस के हाथ जो सीसीटीवी फुटेज लगे हैं, उनमें अपराधियों के चेहरा तो साफ नजर नहीं आ रहे हैं. लेकिन यह साफ पता चल रहा है कि अपरधियों की संख्या तीन थी. तीनों अपराधी एक ही बाइक पर बैठकर नरेंद्र सिंह होरा को ओवरटेक करते है.

इसे भी पढ़ें :नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड में पुलिस को मिले कुछ अहम सुराग, जल्द हो सकती है आरोपी की…

बेटे रूपेंद्र सिंह होरा तीन अज्ञात के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी

नरेंद्र सिंह होरा के बेटे रूपेंद्र सिंह होरा तीन अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. बेटे के बयान पर तीन अज्ञात के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी लोअर बाजार थाने में दर्ज की गई है. रूपेंद्र सिंह होरा ने बताया कि उनके पिता 55 वर्षीय नरेंद्र सिंह होरा अपर बाजार स्थित प्रतिष्ठान से पीपी कंपाउंड स्थित आवास के लिए निकले थे. इसी दौरान रोस्पा टावर के पास तीन अज्ञात अपराधियों ने मेरे पिता की गोली मारकर हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें : नरेंद्र सिंह होरा हत्याकांड : चैंबर सदस्य सीएम से मिले, सीएम ने कहा- जल्द होगी अपराधियों…

 तीन गोलियां मारी गई थी नरेंद्र सिंह होड़ा को

5 सितंबर की रात चावल व्यवसाई नरेंद्र सिंह होड़ा को रोस्पा टावर के पास तीन अज्ञात अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी. नरेंद्र सिंह होड़ा को तीन गोलियां मारी गई थी. अपराधी और नरेंद्र सिंह होड़ा के बीच हाथापाई भी हुई. आखिरकार अपराधी उन्हें एक के बाद एक तीन गोलियां मार उनकी स्कूटी लेकर फरार हो गए. कुछ दूर आगे सुनसान जगह पर पहुंचने के बाद अपराधी स्कूटी में रखे लगभग चार लाख रुपये निकाल कर और स्कूटी को वहीं छोड़कर अलग-अलग रास्ते पकड़ फरार हो गए.

इसे भी पढ़ें : ईडी ने एनोस एक्का के एयरपोर्ट रोड स्थित आवास पर फिर चिपकाया नोटिस

क्या कहते रांची डीआईजी

रांची रेंज के डीआइजी एवी होमेकर कहते है कि पुलिस की कई टीमें इस हत्याकांड के मामले को सुलझाने में लगी हुई हैं. इसके लिए अलग से एक एटीएस की टीम को भी लगाया गया है. पुलिस अलग अलग स्थानों पर छापेमारी कर रही है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: