Business

नारायणमूर्ति ने कहा, निवेशकों का विश्वास ऊंचाई पर है, आर्थिक नीतियां लोकलुभावन नहीं,  विशेषज्ञता पर आधारित हों

NewDelhi :  आईटी कंपनी  इन्फोसिस के सह-संस्थापक एनआर नारायणमूर्ति ने गोरखपुर की मदन मोहन मालवीय यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलोजी के दीक्षांत समारोह में अर्थव्यवस्था के मामले में मोदी सरकार को सलाह दी है. अपने भाषण मं नारायणमूर्ति ने  कहा कि हमारी सरकारों को ज़्यादा नागरिक-हितैषी बनना होगा और उद्यमियों के रास्ते की बाधाओं को दूर करना होगा, ताकि ज्यादा से ज्यादा तादाद में रोजगार पैदा हों.

हमारी आर्थिक नीतियों को कम से कम लोकलुभावन होना होगा.  विशेषज्ञता पर आधारित होने की ओर ज्यादा ध्यान देना होगा.  इस क्रम में नारायणमूर्ति ने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था 6-7 प्रतिशत की दर से प्रतिवर्ष आगे बढ़ रही है.

कहा कि भारत आज दुनिया में सॉफ्टवेयर डेवलेपमेंट का केन्द्र बन गया है.  हमारा विदेशी मुद्रा भंडार 400 बिलियन डॉलर के पार पहुंच गया है.  नारायणमूर्ति के अनुसार निवेशकों का विश्वास ऊंचाई पर  है.  एएनआई  के अनुसार  नारायणमूर्ति की यह टिप्पणी ऐसे समय में आयी है, जब देश की अर्थव्यवस्था पिछले पांच साल के दौरान वृद्धि की सबसे खराब दौर में है.  कई सेक्टरों में तो लाखों नौकरियां जाने के कगार पर हैं.

advt

हमारा  विश्वास मजबूत हुआ है कि हम गरीबी हटा सकते हैं

नारायणमूर्ति ने कहा कि 300 सालों में पहली बार ऐसा हुआ है कि देश में ऐसा आर्थिक माहौल है जिससे हमारा ये विश्वास मजबूत हुआ है कि हम गरीबी हटा सकते हैं और प्रत्येक भारतीय के लिए एक सुनहरा भविष्य बना सकते हैं.  इन्फोसिस के सह-संस्थापक मूर्ति ने आगे कहा कि यह आसान है कि हम खुद को राष्ट्रीय ध्वज में लपेटें और मेरा भारत महान चिल्लाएं और जय हो के नारे लगायें,  लेकिन अपने संस्कारों का निर्वहन करना काफी मुश्किल होता है. कहा कि देशभक्ति का मतलब यह है कि हम प्रत्येक भारतीय से उसका बेस्ट निकलवायें.  देशहित को अपने हितों से ऊपर रखें.

नारायणमूर्ति ने कहा कि एक तरफ देश तेज आर्थिक विकास कर रहा है, वहीं उसके समानांतर एक दूसरा भारत भी है, जहां गरीबी, निरक्षरता, कुपोषण और खराब स्वास्थ्य जैसी समस्याएं हैं.  जिन्हें दूर करने के लिए जरुरी कदम उठाने होंगे. समारोह में  सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद थे.  दीक्षांत समारोह में एन.नारायणमूर्ति को डॉक्टरेट की डिग्री से  नवाजा गया.

इसे भी पढ़ें-  200 दिनों से 4,500 करोड़ रुपये बकाया नहीं चुकाने पर रांची सहित छह एयरपोर्ट पर एयर इंडिया के विमानों को फ्यूल सप्लाई बंद

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button