National

योगी के बाद नकवी ने कहा ‘मोदी की सेना’, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

New Delhi: चुनावी संग्राम के जोश में नेताओं के बयान चर्चा में रहती है. पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और अब केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को चुनाव आयोग की तरफ से नोटिस मिला है. दोनों ही नेताओं ने भारत की सेना को ‘मोदी की सेना’ कहकर संबोधित किया था.

इसे भी पढ़ेंःआडवाणी ने ब्लॉग में लिखी ‘मन की बात’, कहा- राजनीतिक विरोधियों को कभी…

चुनावी सभा में कहा मोदी की सेना

यूपी के रामपुर में बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मोदी की सेना तो आतंकवादियों को घर में घुसकर मार रही है. इसी बयान पर चुनाव आयोग ने रिपोर्ट तलब की है. इस रिपोर्ट में बयान की वीडियो रिकोर्डिंग भी शामिल की जाएगी.

मुख्तार अब्बास के बयान की पूरी जांच होगी और विशेषज्ञों की टीम बारीकी से इसका अध्ययन करेगी. इसी के बाद कार्रवाई को लेकर किसी तरह का फैसला लिया जाएगा.

उल्लेखनीय कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी भारतीय सेना को ‘मोदी की सेना’ कहकर संबोधित किया था. जिसपर कई विपक्षी पार्टियों ने सवाल उठाया था.

इसे भी पढ़ेंःस्टार प्रचारकों का खर्च राजनीतिक पार्टियों को करना होगा वहन : विनय…

मोदी की सेना पर बयान दे फंसे वीके सिंह

एक ओर जहां बीजेपी नेता भारतीय सेना को मोदी की सेना बताकर निर्वाचन आयोग के रडार पर हैं. वहीं दूसरी ओर मोदी की सेना को लेकर दिये अपने बयान पर केंद्रीय मंत्री वीके विवादों में घिर गये हैं.

दरअसल बीबीसी इंडिया को दिये अपने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि जो कोई भी भारतीय सेना को मोदी की सेना कहता है वह देशद्रोही है. उन्होंने कहा था, ‘‘सेना किसी की नहीं होती है. सेना सिर्फ देश की होती है. इसमें मोदी सेना कहां से आ गयी.’’

हालांकि, केंद्रीय मंत्री वी के सिंह ने विवाद गहराता देख इस तरह की टिप्पणी से इनकार किया है.

इसे भी पढ़ेंःछत्तीसगढ़ में नक्सलियों से मुठभेड़ में धनबाद का इसरार खान शहीद

सिंह ने हालांकि टिप्पणी करने की बात को पुरजोर तरीके से खारिज करते हुए कहा कि संबंधित रिपोर्टर ने ‘कट-पेस्ट’ करने का काम किया है. उन्होंने ट्विटर पर सवाल खड़ा किया कि ऐसा करने के लिए मीडिया हाउस को ‘‘कितना पैसा मिला’’.

बीबीसी इंडिया ने सिंह के साथ अपनी बातचीत का एक पूरा वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर जारी किया है ताकि उसके दावे की पुष्टि की जा सके और कहा कि विदेश राज्य मंत्री ने इसके लिए “प्रेस्टीट्यूट” शब्द का भी इस्तेमाल किया था.

इसे भी पढ़ेंःरामटहल के निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद BJP ने की विशेष रणनीति पर चुनाव लड़ने की तैयारी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close