National

गुरुग्राम में टोपी के नाम पर मुस्लिम युवक की पिटायी, छत्तीसगढ़ में गोकशी को लेकर मारपीट

विज्ञापन

Gurugram : हरियाणा के गुरुग्राम में जैकबपुरा में पारंपरिक टोपी पहनने के लिये 25 वर्षीय मुस्लिम युवक की चार अज्ञात लोगों ने कथित तौर पर पिटायी की. पीड़ित की पहचान मोहम्मद बरकर आलम के तौर पर हुई है. मूलत: वह बिहार का रहने वाला है.

क्या है पूरा मामला

घटान के बाद पुलिस में दी गयी शिकायत में आलम ने आरोप लगाया कि सदर बाजार मार्ग पर चार अज्ञात लोगों ने उसे रोका और पारंपरिक टोपी पहनने पर आपत्ति जतायी. उसने बताया कि आरोपियों ने उसे धमकी दी और कहा कि इस इलाके में इस तरह की टोपी पहनने की इजाजत नहीं है.

आलम ने अपनी प्राथमिकी में कहा कि उन्होंने मेरी टोपी हटा दी और मुझे थप्पड़ मारे साथ ही उन्होंने ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाने को भी कहा. उसने कहा कि मैंने उनके आदेश का पालन किया और ‘भारत माता की जय’ का नारा लगाया लेकिन उन्होंने मुझे ‘जय श्रीराम’ का उद्घोष करने के लिये कहा, जिसे करने से मैंने इनकार कर दिया. इस पर एक युवक ने सड़क किनारे पड़ी लाठी उठायी और बेरहमी से मुझे पीटना शुरू कर दिया. उन्होंने मेरे पैर और पीठ पर वार किया.

advt

जांच में जुटी पुलिस

वहीं इस मामले में एसीपी ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है और इलाके के सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर आरोपियों की पहचान की जा रही है. उन्हें पकड़ने के प्रयास जारी हैं. जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे. हमने घटना का सीसीटीवी फुटेज भी देखा है.

फुटेज में दो लोग पहले बात करते हुए नजर आ रहे हैं फिर मारपीट होने लगी. लगभग एक से दो मिनट से भी कम समय में सबकुच हो गया. आरोपियों के बारे में कहा कि वह स्थानीय निवासी लग रहे हैं. लेकिन फुटेज में उनकी तस्वीर कुछ साफ तरीके से नजर नहीं आ रही है. लेकिन फिर भी हम उनकी पहचान करने की कोशिश कर रहे हैं.

छत्तीसगढ़ में भी गोकशी के नाम पर मारपीट

वहीं दूसरी और छत्तीसगढ़ के रायपुर स्थित गोकुल नगर में गोकशी के नाम पर मारपीट करने का मामला सामने आया है. जहां एक डेयरी में घुसकर तोड़फोड़ और डेयरी मालिक के साथ मारपीट की गयी. गोरक्षकों का कहना था कि इस डेयरी में गोकशी होती है. वहीं इस मामले में पुलिस ने तीन कथित गोरक्षकों को गिरफ्तार कर लिया है.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि तीनों आरोपियों ने खुद को गोरक्षक बताया. यह पूरा मामला शनिवार 25 मई का है. घटना के एक दिन बाद रविवार को बजरंग दल जैसे कई दक्षिणपंथी संगठनों ने डीडी नगर थाने के बाहर प्रदर्शन किया. और मांग की कि डेयरी मालिक के खिलाफ भी केस दर्ज किया जाए.

adv

मामले को लेकर क्या है पुलिस का कहना

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारियों का का कहना है कि घटना की जांच में यह बात सामने आया है कि गोरक्षकों का एक ग्रुप इलाके की एक डेयरी में घुस गया क्योंकि उनको शक था कि डेयरी में गोकशी होती है. जिसे लेकर डेयरी मालिक उस्मान कुरैशी और उनके सहयोगियों के साथ मारपीट की और डेयरी परिसर में जमकर तोड़फोड़ की. घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी की फुटेज के आधार पर कार्रवाई की जा रही है.

पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप

घटना के बाद रविवार को दक्षिणपंथी संगठनों के करीब 50 सदस्य थाने पहुंचे थे. उन्होंने पुलिस से डेयरी मालिक की गिरफ्तारी की मांग की . साथ ही पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप भी लगाया.

प्रदर्शन करने वाले लोगों का कहना था खि डेयरी के पीछे हड्डियां मिली थीं. लेकिन पुलिस का इस मामले में कहना है कि फिलहाल गोकशी के संबंध में उन्हें कोई सबूत नहीं मिला है.

आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज

एएसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने कहा कि डेयरी में तोड़फोड़ व मारपीट करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जिनकी पहचान अंकित द्विवेदी, अमरजीत सिंह और शुभंकर द्विवेदी के रूप में हुई है. उन्हें फिलहाल न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

उनके खेलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 427, 457, 323, 380 और 120बी के तहत केस दर्ज किया गया है. दुसरे पक्ष पर किसी भी तरह की क्रॉस एफआईआर दर्ज नहीं की गई है, क्योंकि दूसरे पक्ष के खिलाफ किसी भी तरह का कोई सबूत हाथ नहीं लगा है. ना ही वो किसी भी तरह के अपराध में संलिप्त नहीं मिला है. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.

 

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button