न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लाइव डिबेट में मौलाना ने महिला वकील को पीटा, हिरासत में, पर्सनल लॉ बोर्ड की कमेटी करेगी जांच

598

NewDelhi : टीवी चैनल जी हिंदुस्तान के लाइव डिबेट कार्यक्रम में तीन तलाक पर बहस के दौरान मौलाना मुफ्ती एजाज अरशद कासमी द्वारा महिला वकील फराह फैज के साथ मारपीट का मामला तूूल पकड़ रहा है. बता दें कि बरेली के आला हजरत खानदान की बहू रह चुकी निदा खान के खिलाफ आला हजरत दरगाह से जारी फतवे पर बहस हो रही थी. बहस के दौरान मामला गर्मा गया. मौलाना एजाज अरशद कासमी ने आपा खो दिया.  बता दें कि उन्होंने कार्यक्रम में शामिल महिला वकील फराह फैज पर हाथ चला दिया. बीच—बचाव के बावजूद मौलाना शांत नहीं हो रहे थे. मारपीट की सूचना पर नोएडा पुलिस वहां पहुंच गयी और मौलाना को हिरासत में ले लिया.  जी न्यूज हिंदुस्तान में मंगलवार शाम तीन तलाक के मामले पर बहस चल रही थी.  कार्यक्रम में ऑल ​इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मुफ्ती एजाज अरशद कासमी और तीन तलाक की मुख्य याचिकाकर्ता फराह फैज शामिल थे. उनके अलावा शो में सामाजिक कार्यकर्ता अंबर जैदी भी शामिल थी.

इसे भी पढ़ें- झारखंड लूटखंड और खूनखंड बन चुका है : वृंदा करात

मुफ्ती एजाज अरशद कासमी रुढ़िवादी कहे जाने पर भड़क गये

बता दें कि बहस के क्रम में मुफ्ती एजाज अरशद कासमी रुढ़िवादी कहे जाने पर भड़क गये और आपा खो बैठे.  उन्होंने पहले अंबर जैदी के साथ बदसलूकी की. इसके बाद वे फराज फैज पर बरसने लगे. दोनों अपनी कुर्सी से उठकर खड़े हो गये और. दोनों के बीच तीखी नोकझोंक होने लगी. अचानक मुफ्ती भड़क गये और उन्होंने फराह फैज पर हाथ उठा दिया. लगातार उन्होंने फराह फैज के बाल नोचते हुए कई तमाचे लगा दिये. मारपीट होते देखकर पैनल में शामिल लोग सहित कार्यालय के कर्मचारी बीच-बचाव के लिए दौड़े और मुफ्ती को नियंत्रित किया गया.   जानकारी पाकर नोएडा पुलिस वहां पहुंची और लाइव शो खत्म होने के बाद  पुलिस ने मारपीट करने वाले मुफ्ती एजाज अरशद को हिरासत में ले लिया.

इसे भी पढ़ें- क्या पक्ष और विपक्ष दोनों सदन चलने नहीं देना चाहते ?

 

असदुद्दीन ओवैसी ने मौलाना कासमी को बर्खास्त करने की मांग की

इस घटना को लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ट्वीट किया है कि मौलाना एजाज अरशद कासमी के मामले में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर मामले की जांच की जायेगी. कमेटी मौलाना रबी हसानी नदवी को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.  रिपोर्ट के आधार पर बोर्ड मौलाना एजाज को लेकर कोई फैसला करेगा. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के ट्वीट पर लिखा है कि मौलाना एजाज अरशद कासमी को बोर्ड की सदस्यता से बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए. हमें इस मामले में कमेटी की क्या जरुरत है! कोई व्यक्ति लाइव टीवी डिबेट में किसी महिला के साथ मारपीट कैसे कर सकता है?

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: