न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस :  पोक्सो अदालत का नीतीश कुमार के खिलाफ सीबीआई जांच का आदेश

बिहार की पोक्सो अदालत ने बहुचर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस मामले में सीबीआई को निर्देश दिया है कि वह बिहार के सीएम नीतीश कुमार और दो वरिष्ठ नौकरशाह के खिलाफ भी जांच करे.

411

Patna : बिहार की पोक्सो अदालत ने बहुचर्चित मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस मामले में सीबीआई को निर्देश दिया है कि वह बिहार के सीएम नीतीश कुमार और दो वरिष्ठ नौकरशाहों के खिलाफ भी जांच करे.  विशेष पॉक्सो कोर्ट ने केंद्रीय जांच ब्यरो (सीबीआई) के पटना एसपी को जांच के आदेश दिये हैं. कोर्ट ने नीतीश कुमार के साथ ही समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अतुल प्रसाद और तत्कालीन डीएम धर्मेंद्र सिंह के खिलाफ भी जांच के आदेश दिये हैं. यह आदेश शेल्टर होम केस मामले में एक आरोपी अश्विनी की याचिका पर शुक्रवार को दिया है.  कोर्ट के इस आदेश से बिहार के सीएम नीतीश कुमार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.   बता दें कि अश्विनी पर आरोप है कि वही शेल्टर होम की बच्चियों को बेहोशी के इंजेक्शन देता था, जिसके बाद बच्चियों का शारीरिक शोषण किया जाता था.  अश्विनी ने कोर्ट में दाखिल अपनी याचिका में कहा है कि सीबीआई इस मामले की जांच से जुड़े कुछ तथ्यों को दबाने का प्रयास कर रही है.  अपनी याचिका में कहा कि यदि मुजफ्फरपुर के पूर्व डीएम धर्मेंद्र सिंह, मुजफ्फरपुर के पूर्व डिवीजनल कमिश्नर और सामाजिक कल्याण विभाग के मौजूदा मुख्य सचिव अतुल कुमार सिंह और बिहार के सीएम नीतीश कुमार से पूछताछ की जाती है तो ये तथ्य सामने आ सकते हैं.

2013 से ही बालिका गृह को नियमित भुगतान किया जाता रहा था

याचिका में कहा गया है कि वर्ष 2013 से ही बालिका गृह को नियमित भुगतान किया जाता रहा था. सवाल उठाया गया है कि इसमें बिना मिलीभगत और प्रशासनिक शह के संभव नहीं था. अर्जी में यह भी कहा गया कि  रूटीन जांच में बलिकागृह के संचालन के मामले को अधिकारी क्लीन चिट  देते रहे हैं. सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ पॉक्सो कोर्ट द्वारा दिये गये जांच आदेश के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया है. जाहिर है अब इस मामले में कोर्ट के सख्त रुख के बाद बिहार की राजनीति में भी उबाल आने की संभावना व्यक्त की जा रही है. बता दें कि पूर्व में इस  मामले में नीतीश सरकार को फटकार लगाने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को भी लताड़ लगाई थी. बिहार शेल्टर होम मामले की दोबारा सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आप सुप्रीम कोर्ट के आदेश से खेल रहे हैं. आपको पता नहीं कि आपने क्या किया है.

इसे भी पढ़ें : पुलवामा आतंकी हमला : सर्वदलीय बैठक में सभी दलों ने देश और सरकार के साथ एकजुटता दिखाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: