न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांड: आरोपी ब्रजेश के ड्राइवर की निशानदेही पर कब्र से निकाला गया कंकाल

सीबीआई कंकाल फोरेंसिक जांच के लिए साथ ले गयी

190

Muzaffarpur: बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण मामले की जांच कर रही सीबीआई की टीम ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई की है. सीबीआई की टीम सिकंदरपुर स्थित एक श्मशान घाट से कंकाल बरामद उसे फोरेंसिक जांच के लिए अपने साथ ले गयी.

इसे भी पढ़ेंःविशेष राज्य का दर्जा देने की अनुशंसा करना वित्त आयोग का अधिकार क्षेत्र नहीं: एनके सिंह

मुख्य आरोपी की निशानदेही पर खुदाई

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में रह रही लड़कियों में से एक ने आरोप लगाया था कि वहां के कर्मचारियों द्वारा उनके साथ रह रही एक लड़की की हत्या कर उसे बालिका गृह परिसर में दफना दिया गया था. इस आरोप पर पुलिस ने जुलाई में परिसर के अंदर खुदवाई करायी थी, लेकिन कुछ भी संदिग्ध चीज बरामद नहीं हुई.

ऐसा माना जा रहा है कि इस मामले में गिरफ्तार विजय से प्राप्त जानकारी पर सीबीआई ने महाकाल-महाशक्ति मंदिर के पीछे खुदाई करवायी. विजय इस मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ काम करता था. इस खुदाई के दौरान कंकाल में सिर और हाथ की हड्डियां मिली हैं. साथ ही कुछ अवशेष भी मिले हैं. टीम कंकाल की फोरेंसिक जांच के लिए अपनी साथ ले गई.

इसे भी पढ़ें – मीटर खरीद मामले में जेबीवीएनएल जिद पर अड़ा, मनमाने ढंग से टेंडर के बाद सीएमडी की चिट्ठी की भी परवाह…

पर सरकार द्वारा की गयी कार्रवाई के दौरान ब्रजेश द्वारा संचालित मुजफ्फरपुर बालिका गृह में लडकियों का यौन शोषण किए जाने का मामला प्रकाश में आया था. ब्रजेश और पूर्व सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा के बीच घनिष्ठ संबंध होन का आरोप लगने पर मंजू को भी गत अगस्त महीने में मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

गौरतलब है कि मुंबई स्थित टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज द्वारा राज्य सरकार को सौंपी गयी सामाजिक अंकेक्षण रिपोर्ट के आधार पर मुजफ्फरपुर बालिका गृह में यौन शोषण का मामला सामने आया है. और मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड में 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हुई थी. इस मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर है, जो बालिका गृह का संचालक था, साथ ही एक अखबार का मालिक भी था.

इसे भी पढ़ेंःरांची के मनातू में नक्सलियों का आतंकः क्रशर कैंप पर हमला, कई वाहनों को फूंका

वही ब्रजेश राय और पूर्व सामाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा के बीच घनिष्ठ संबंध होने का आरोप लगने पर मंजू वर्मा को भी पिछले अगस्त महीने में इस्तीफा देना पड़ा था. फिलहाल इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःNEWS WING IMPACT : आयुष्मान कार्डधारी से पैसे मांगने के मामले में रिम्स निदेशक बोले- हमसे गलती हुई, आयुष्मान भारत की सही से नहीं थी जानकारी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: