JharkhandLead NewsRanchi

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए मुस्तैदी जरूरी, पत्रकारों के मामले में हेमंत सरकार संवेदनहीन: रघुवर दास

Ranchi. कोरोना की दूसरी लहर से जूझते झारखंड में अब थोड़ी राहत की खबर है. इसके लिये पूर्व सीएम रघुवर दास ने राज्य के डॉक्टरों, पारा मेडिकल स्टाफ और अन्य फ्रंटलाईन वर्करों की कड़ी मेहनत बतायी है. साथ ही उन्होंने कोरोना की सम्भावित तीसरी लहर से चौकन्ना एवं मुस्तैद रहने की आवश्यकता पर बल दिया है. कहा है कि कोरोना से मुकाबला में प्रधानमंत्री का मंत्र ‘जहां बीमारी, वहां उपचार’ सहायक सिद्ध होगा. राज्य सरकार इसके लिए व्यापक तैयारी करे.

इसे भी पढ़ें : कोरोना की थर्ड वेव को लेकर हेल्थ डिपार्टमेंट ने कसी कमर, बच्चों के लिए तैयार हो रहा पीआईसीयू, एसएन आईसीयू

मरीजों की संख्या में कमी

रघुवर दास ने रविवार को कहा कि कोरोना महामारी की रफ्तार में कमी दिखने लगी है. कोरोना काल की दूसरी लहर के उफान की चर्चा करते हुए कहा कि अस्पतालों में मरीजों के लिए बेड मिलना कठिन हो गया था. पर आज साधारण कोविड बेड आसानी से मिल रहे हैं. इसमें राज्य के मेडिकल पेशे से जुड़े लोगों ने अहम भूमिका निभायी है.

महामारी के दौरान टाटा स्टील द्वारा झारखंड के अलावा पश्चिम बंगाल, ओडिशा और उत्तर प्रदेश सहित देश के कई प्रांतों में प्रति दिन हजारों टन लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई की गयी. इसके लिए टाटा स्टील की सराहना होनी चाहिये. टाटा घराना ने देश की विपत्ति के समय हमेशा आगे बढ़कर मदद की है. इसके लिए उद्योगपति रतन टाटा की जितनी भी तारीफ की जाए, कम है.

advt

पत्रकारों के लिये दिखायें संजीदगी

हेमंत सरकार पर पत्रकारों के प्रति उन्होंने असंवेदनशील होने का आरोप लगाया. कहा कि कोरोना महामारी के इस दौर में सरकार द्वारा राज्य के सभी पत्रकारों को फ्रंटलाईन वॉरियर्स का दर्जा देना चाहिये. पत्रकारों के लिए प्रस्तावित पेंशन योजना लागू नहीं करना और कोरोना काल के दिवंगत पत्रकारों के परिजनों को पांच-पांच लाख की अनुग्रह

राशि नहीं देना, पत्रकारों के प्रति हेमंत सरकार के अन्यायपूर्ण रवैये का नमूना है. उन्होंने इस सिलसिले में मुख्यमंत्री से पहले भी आग्रह किया था. सरकार इस पर तुरंत अमल करे. पत्रकारों को फ्रंटलाईन वॉरियर्स का दर्जा देने से कोरोना पीड़ित पत्रकारों को निःशुल्क चिकित्सा सुविधा सहित अन्य लाभ मिल सकेंगे.

इसे भी पढ़ें :आउटसोर्स पर नौकरी प्रक्रिया को उठी खारिज करने की मांग, सरयू राय ने कहा- नई लकीर खींचे हेमंत सरकार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: