Jamshedpur

मुसाबनी : हाथियों के झुंड ने तराशपुर गांव में किया फसल बर्बाद, जिला पार्षद ने की मुआवजे की मांग

Musabani : शनिवार की रात गुड़ाबांधा प्रखंड के सिंहपुरा पंचायत के ताराशपुर गांव में हाथियों के एक झुंड ने रातभर डेरा डालकर सब्जी की खड़ी फसल को रौंद कर बर्बाद कर दिया. हाथियों का झुंड देखकर ग्रामीण रातभर सुरक्षित घरों में जान बचाकर  दुबके रहे. ताराशपुर गांव के किसान बागाई हांसदा, कालीचरण महाली की लगभग तीन एकड़ जमीन में लगे टमाटर, गोभी, बैगन की फसल को हाथियों ने बर्बाद कर दिया है. उसी गांव के अर्जुन बेसरा के आंगन में लगे केला के कई पेड़ों को खा कर रौंद कर तहस नहस कर दिया. अर्जुन बेसरा ने बताया कि हम लोग घर के बाहर ठंड के कारण आग ताप रहे थे. उसी समय नदी की ओर से हाथियों के झुंड के आने की सूचना ग्रामीणों की ओर से दी गयी. हम सब संभल पाते इतने में ही हाथियों का झुंड मेरे आंगन के करीब आ गया और केला खाने लगा. हम सब घर के अंदर दुबक गाए और इसकी सूचना जिला पार्षद बुद्धेश्वर मुर्मू को देकर वन विभाग को सूचित कर हाथियों को यहां से भगाने का उपाय करने का आग्रह किया. मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला पार्षद ने तत्काल रेस्क्यू के लिए मुसाबनी वन क्षेत्र पदाधिकारी पीके गोस्वामी को सूचना दी. रेंजर ने अपने वन कर्मियों को निर्देश दिया कि हाथियों के झुंड को घर से दूर भागाने का उचित उपाय करें. कुछ देर में ही वन कर्मी हाथी भगाने की सामग्री लेकर हाथियों से घिरे घर पर जाकर रेस्क्यू करते हुए फंसे लोगों को सुरक्षित निकाला और हाथियों को घर से दूर भगाया. इस संबंध में जिला पार्षद ने रविवार को वन क्षेत्र पदाधिकारी कार्यालय जाकर पी के गोस्वामी से मुलाकात कर हाथी प्रभावित गांवों में पर्याप्त मात्रा में पटाखा और टॉर्च लाईट को बांटने की मांग की गयी. जिप सदस्य ने वन विभाग से मांग की. लोगों ने हाथी से फसल और सब्जी कि बर्बादी का आंकलन कर क्षतिपूर्ति देने की मांग भी की गयी. इस मौके पर रवि सिंह मुख्य रूप से उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें- झामुमो नेताओं ने किया रांगामाटिया का दौरा, समस्याओं का होगा समाधान

Related Articles

Back to top button