न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्मार्ट फोन के लिए दोस्त की कर दी थी हत्या, स्पीड ट्रायल में एक वर्ष में हुआ दोषी करार

65
  • सजा के बिंदु पर 19 जनवरी को होगी सुनवाई
mi banner add

Bermo : बेरमो अनुमंडल के चंद्रपुरा थाना क्षेत्र अंतर्गत तारमी बस्ती निवासी प्रमोद गिरि के इकलौते पुत्र नीतेश की हत्या पड़ोस के युवक मनीष गिरि (20 वर्ष) ने एक साल पहले कर दी थी. जिला जज द्वितीय गुलाम हैदर की अदालत ने मनीष को गुरुवार को दोषी करार दिया. अब 19 जनवरी को सजा के बिंदु पर सुनवाई होगी. इस मामले की सुनवाई स्पीड ट्रायल के तहत हो रही है.

क्या था मामला

15 जनवरी 2018 को पुलिस ने नीतेश का शव तारमी-साइडिंग के पास जंगल से बरामद किया था. नीतेश के एंड्रॉयड फोन (रेडमी नोट-4) को हासिल करने के लिए मनीष ने नीतेश को भरोसे में लिया और 12 जनवरी की रात बाइक से पास के जंगल में ले जाकर गला दबाकर उसकी हत्या कर दी थी. हत्या करने के बाद मनीष ने मोबाइल फोन को एक प्लास्टिक में रखकर मिट्टी के अंदर दबाकर रख दिया था. बाद में एसपी कार्तिक एस ने पहुंचकर मामले की जांच की थी. मोबाइल फोन ट्रेस के बाद आरोपी मनीष को पकड़ा गया था. पूछताछ में उसने पुलिस को भी गुमराह करने की कोशिश की थी. सख्ती से पूछताछ के बाद उसने हत्याकांड का खुलासा किया था. मृतक बीबीएम सरस्वती विद्या मंदिर गुंजरडीह में कक्षा सात का छात्र था. आरोपी मनीष के बुलावे के बाद ही वह अपने साथ अपना एंड्रॉयड मोबाइल फोन लेकर निकला था. घटना के बाद गांव में कई दिनो तक तनाव की स्थिति बनी रही थी. लगातार कई दिनों तक गांव में पुलिस बल की तैनाती की गयी थी. दोनों पड़ोसी थे और साथ में पले-बढ़े थे. नीतेश 12 जनवरी की शाम को घर से निकला था. नीतेश के पिता प्रमोद गिरि एसआरयू भंडारीदह में ठेका मजदूर हैं. इकलौते पुत्र की हत्या के एक साल बाद भी परिवार इस सदमे से पूरी तरह उबर नहीं पाया है.

इसे भी पढ़ें- बोकारो के पूर्व खनन निरीक्षक अर्जुन कुमार सिंह को दो मामलों में कारावास की सजा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: