न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शिक्षक शिव प्रसाद हत्याकांड सहित राजधानी में हुई कई हत्याओं की अब तक नहीं सुलझी गुत्थी

758

Ranchi : सात जुलाई 2018 को लालपुर थाना क्षेत्र के होटल आर्या के पास शिक्षक शिव प्रसाद की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में रांची पुलिस ने हत्यारे का सुराग देने वाले को 50 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की थी. लेकिन फिर भी पुलिस को इस मामले में कोई भी जानकारी नहीं मिली. पुलिस अबतक हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

यह कोई पहला मामला नहीं जब पुलिस नाकाम रही है. राजधानी रांची में कई ऐसे हत्याकांड हुए हैं जिसकी गुत्‍थी  सुलझाने में पुलिस नाकाम रही है. इसमें मोहन श्रीवास्‍तव, अरुण किस्‍पोट्टा, सामू उरांव, सामी मुंडा, शिव प्रसाद और अमित टोप्पो की हत्याओं के मामले शामिल हैं. इन सभी हत्याओं के बाद पुलिस ने आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़ने की बात कही थी. लेकिन आरोपियों को पकड़ना तो दूर की बात पुलिस इन मामलों में अबतक कुछ खास सुराग भी नहीं जुटा पायी है.

इसे भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019 : 20 राज्यों की 91 सीटों पर पहले चरण की वोटिंग शुरू

जमीन विवाद में की गयी थी अरुण, सामू और सामी मुंडा की हत्‍या

डोरंडा थाना क्षेत्र के बड़ा घाघरा में अरुण किस्पोट्टा, सामू उरांव और पंडरा ओपी क्षेत्र के बजरा में सामी मुंडा की हत्‍या कर दी गयी थी. इनकी हत्या के पीछे का कारण जमीन विवाद बताया जा रहा है. हत्या के बाद परिजनों ने हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए सड़क जाम कर दिया था. जिसके बाद पुलिस ने परिजनों को आश्‍वासन दिया था कि आरोपियों को जल्‍द गिरफ्तार करे लेंगे. लेकिन यह आश्वासन आज तक पूरा नहीं हो पाया और ना ही किसी हत्यारे का सुराग मिल पाया.

शिव प्रसाद, मोहन श्रीवास्तव और अमित टोप्पो हत्याकांड की नहीं सुलझी गुत्थी

सदर थाना क्षेत्र के कोकर में मोहन श्रीवास्तव की चाकू से मारकर हत्या कर दी गयी थी. लालपुर थाना क्षेत्र में शिव शर्मा की गोली मारकर हत्या की गयी थी वहीं डोरंडा थाना क्षेत्र के घाघरा में अमित टोप्पो की भी गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इन हत्याओं को हुए काफी वक्त गुजर गया है लेकिन फिर भी पुलिस अभी तक इनकी गुत्थी सुलझाने में नाकाम रही है.

Related Posts

गढ़वा : चाची को प्रेमजाल में फंसा तलाक कराया, शादी का दबाव बनाने पर ट्रक से कुचलकर मार डाला

रिश्ते को शर्मसार करने वाले इस पूरे मामले के आरोपी भतीजे सद्दाम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

SMILE

इसे भी पढ़ें- झारखंड में 15 लाख 4 हजार 408 मतदाताओं का अबतक नहीं बन पाया है वोटर आइडी

कांके में गला रेतकर महिला की हत्या मामले में भी कोई सुराग नहीं

नौ अप्रैल 2019 को राजधानी रांची के कांके थाना क्षेत्र के बंद पड़े बिजली बोर्ड के पुराने पावर हाउस से एक मृत महिला का शव बरामद हुआ था. महिला कांके थाना क्षेत्र के सुकुरहुट्टू की रहने वाली थी. 50 वर्षीय जीतन देवी की हत्या के मामले में भी पुलिस को अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है. जीतन देवी की हत्या से पहले आरोपियों के द्वारा दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने की आशंका भी जताई गई है. आरोपियों ने दुष्कर्म के बाद महिला की गला रेतकर हत्या कर दी गयी.

हत्याएं जिसमें हत्यारों की अबतक नहीं हो पायी गिरफ्तारी

  • सात जुलाई 2018 को लालपुर थाना क्षेत्र के होटल आर्या के पास शिव प्रसाद की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.
  • 20 अगस्त 2018 सदर थाना क्षेत्र के कोकर स्थित ईमाम कोठी में केयर टेकर मोहन श्रीवास्तव को अपराधियों ने दिन दहाड़े चाकू मारकर हत्या कर दी थी.
  • दो दिसंबर 2018 को पंडरा ओपी क्षेत्र के रहने वाले सामी मुंडा को अज्ञात अपराधियों ने गोली मार दी थी. जिसके बाद 15 दिसंबर को उनकी मौत हो गयी.
  • 29 दिसंबर 2018 बड़ा घाघरा में जमीन कारोबारी अरुण किस्पोट्टा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.
  • आठ जनवरी 2019 को डोरंडा थाना क्षेत्र के घाघरा में अज्ञात अपराधियों ने ग्रामसभा के सचिव शंकर सुरेश के दोस्त सामू की गोली मारकर हत्या दी. वहीं घटना में शंकर सुरेश भी गंभीर रूप से घायल हो गए थे.
  • नौ दिसंबर 2018 को डोरंडा थाना क्षेत्र के बड़ा घाघरा में अपराधियों ने अमित टोप्पो नाम के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस मामले में पुलिस अभी तक किसी भी अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: