न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मुंगेर : गहरे बोरवेल में गिरी तीन साल की मासूम सन्नो, रेस्क्यू में लगी टीम

बोरवेल में बच्ची को पहुंचाई गयी आक्सीजन

606

Munger : बिहार के मुंगेर में एक तीन साल की बच्ची गहरे बोरवेल में गिर गयी. बच्ची का नाम सन्नो है. घटना जिले के कोतवाली थाना अंतर्गत मुर्गीयाचक मोहल्ले की है. घटना मंगलवार की है. मामले के बारे में बताया जा रहा है कि बच्ची शाम में घर के आेंगन में बोरवेल में गिर गयी. वहीं घटना के बाद बचाव कार्य जारी है. बच्ची अपने ननिहाल आयी हुई थी जहां यह घटना घटी.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- हजारीबाग : घाघरा डैम को लेकर विधायक की बेटी और भाई आपस में भिड़े

बोरवेल में बच्ची को पहुंचाई गयी आक्सीजन

घटना के बारे में बता दें कि शहर के मुर्गियाचक निवासी उमेश नंदन प्रसाद साव के घर में समरसेबुल बोरिंग में उसकी नतिनी सन्नों गिर गयी. जिसके बाद परिवार के लोगों ने बच्ची को बोरवेल से निकालने में जुट गए. सभी ने काफी कोशिश की बच्ची को बाहर निकालने की लेकिन बच्ची को बाहर नहीं निकाला जा सका. परिजनों ने घटना की जानकारी स्थानीय थाना और अन्य पदाधिकारियों को दी. मामले की जानकारी मिलते ही सदर अनुमंडल पदाधिकारी खगेशचंद्र झा, एएसपी हरिशंकर कुमार, मेयर रूमा राज, बीडीओ डॉ पंकज कुमार तथा कोतवाली व पूरबसराय ओपी पुलिस मौके पर पहुंची और बचाव कार्य में जुट गये. घटना के बारे में एक अधिकारी ने बताया कि बोरवेल में आक्सीजन पहुंचाई गई है और बच्ची को बचाने का प्रयास किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- अर्जुन मुंडा का यह ट्वीट कहीं सत्ता पर काबिज हुक्मरानों के लिए कुछ इशारा तो नहीं

बच्ची को बचाने की कोशिश जारी

Related Posts

बिहार : सरकार पर 665 करोड़ का बकाया, कोर्ट ने सचिवालय भवन नीलाम करने का आदेश दिया

 इस भवन परिसर में सीएम नीतीश कुमार समेत आला अधिकारियों और मंत्रियों के कार्यालय चल रहे हैं.

गौरतलब है कि बच्ची गहरे बोरवेल के अंदर से अपनी मां की पुकार का जवाब भी दे रही है. बच्ची मंगलवार रात तक पापा-पापा कर चिल्ला रही थी. फिलहाल पूरा शहर बच्ची की जिंदगी की प्रार्थना कर रहा है. वहीं दूसरी ओर उसे सही सलामत बाहर निकालने के लिए प्रशासन और स्थानीय लोग पूरी मेहनत कर रहे हैं. ऐसी उम्मीद जतायी जा रही है कि कुछ घंटों में बच्ची को बाहर निकाल लिया जाएगा. हांलाकि बारिश की वजह से मिट्टी गीली है जिस वजह से थोड़ी परेशानी हो रही है. रेसक्यू टीम ने बच्ची को बाहर निकालने के लिए रस्सी डाली ताकि बच्ची उसके सहारे बाहर आ सके. लेकिन कुछ दूर रस्सी खींचने के बाद बच्ची बीच में ही कहीं फंस जा रही थी. साथ ही उसके हाथ से रस्सी भी छूट जा रही थी. जिसके बाद टीम बगल में गड्डा कर बच्ची को निकालने की कोशिश कर रही है.

इसे भी पढ़ें- स्टेन स्वामी ने सरकार और जनता के नाम लिखी खुली चिट्ठी- क्या मैं देशद्रोही हूं ?

इसे भी पढ़ें- कॉरपोरेट घरानों का भारतीय राजनीति में बढ़ता प्रभाव

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: