National

मुंबई : पीएम मोदी ने #ISRO के वैज्ञानिकों की सराहना की, कहा, चांद पर पहुंचने का हमारा सपना पूरा होकर रहेगा

विज्ञापन

Mumbai : पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि चंद्रयान-2 मिशन में एक रुकावट जरूर आयी है लेकिन चांद पर पहुंचने का हमारा सपना साकार होकर रहेगा. गणपति उत्सव के बीच मुंबई पहुंचे पीएम मोदी ने चंद्रयान-2 के लिए इसरो के वैज्ञानिकों की दिल खोलकर सराहना की. इस क्रम में मोदी ने कहा कि इसरो ने इस मिशन के लिए जिस तरह से मेहनत की, उसके लिए हमें इससे जुड़े सभी लोगों पर गर्व है. जान लें कि पीएम मोदी ने मुंबई में 19 हजार करोड़ रुपये की लागत वाले तीन और मेट्रो कॉरिडोर्स की आधारशिला रखी. साथ ही भारत अर्थ मूवर्स द्वारा निर्मित मेक इन इंडिया मेट्रो कोच का भी उद्धाटन किया.

पीएम ने मुंबई के लोगों की तारीफ करते हुए कहा, मुंबई वह शहर है जिसकी गति ने देश को भी गति दी है. यहां के परिश्रमी लोग, यहां के प्रफेशनल्स, यहां की माताएं-बहनें, सभी लोग मुंबई से प्यार करते हैं, गर्व करते हैं.

इसे भी पढ़ेंः #Chandrayaan2 पर बोले मोदी- फिर होगी नयी सुबह, हौसला कमजोर नहीं मजबूत हुआ

advt

वैज्ञानिकों का हौंसला देखकर मैं बहुत प्रभावित हूं

इसके बाद यहां आयोजित कार्यक्रम में एक जनसभा में पीएम मोदी ने चंद्रयान-2  को लेकर इसरो के वैज्ञानिकों की सराहना की कहा कि अपने लक्ष्य के लिए कैसे दिन रात एक कर दिया जाता है. कैसे विपरीत से विपरीत परिस्थितियों में भी, बड़ी से बड़ी चुनौती में भी पूरी तन्मयता के साथ हम अपने लक्ष्य को पाने के लिए जुटे रह सकते हैं, यह हम इसरो के वैज्ञानिकों से सीख सकते हैं।. इसरो के वैज्ञानिकों ने जो हौसला दिखाया है, उसे देखकर मैं बहुत प्रभावित हूं.

अपने लक्ष्य को प्राप्त करके ही दम लेते हैं

इसरो वैज्ञानिकों की तारीफ करते हुए पीएम मोदी ने कहा, कोई भी लक्ष्य प्राप्त करने के लिए प्रयास करने वाले तीन तरह के लोग होते हैं. कहा कि सबसे निचले स्तर पर वे लोग होते हैं, जो रुकावटों के डर से कभी काम की शुरुआत नहीं कर पाते. मध्य स्तर पर कुछ लोग ऐसे होते हैं जो काम तो शुरू कर देते है पर रुकावट आते ही भाग जाते हैं.

सबसे ऊंचे स्तर पर वे लोग पहुंचते हैं जो लगातार रुकावट के बावजूद निरंतर प्रयास करते हैं और अपने लक्ष्य को प्राप्त करके ही दम लेते हैं. इसरो वैज्ञानिक इसी स्तर के लोग हैं. पीएम मोदी ने कहा, एक रुकावट आज हमने देखी है लेकिन इसरो के वैज्ञानिक तब तक नहीं रुकेंगे जब तक मंजिल तक नहीं पहुंच जाते. चांद पर पहुंचने का सपना पूरा होकर रहेगा.

5 ट्रिल्यन डॉलर इकॉनमी का लक्ष्य

पीएम मोदी ने कहा, जब आज देश 5 ट्रिल्यन डॉलर इकॉनमी के लक्ष्य की तरफ बढ़ रहा है, तो हमें अपने शहरों को भी 21वीं सदी की दुनिया के अनुसार ही बनाना होगा. कहा कि इसी सोच के साथ हमारी सरकार अगले 5 साल में आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए खर्च करने जा रही है.

adv

इसे भी पढ़ें- #Chandrayaan2: सॉफ्ट लैंडिंग से 2.1 किमी पहले टूटा संपर्क, चांद पर नहीं पहुंच सका विक्रम

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button