Fashion/Film/T.VNational

मुंबई क्रूज ड्रग्स केस : आर्यन के साथ सेल्फी लेने वाला किरण गोसावी पकड़ा गया, कहा- 25 करोड़ डील की बात गलत

Mumbai : आर्यन खान ड्रग केस में एनसीबी की किरकिरी कराने गवाह किरण गोसावी को पकड़ लिया गया है. पुणे पुलिस के कमिश्नर ने इस बात की पुष्टि की है कि पुलिस ने क्रूज पार्टी ड्रग केस में एनसीबी के स्वतंत्र गवाह किरण गोसावी को हिरासत में लिया है. पुणे पुलिस का कहना है कि गोसावी से धोखाधड़ी के मामले में पूछताछ की जा रही है और वह काफी समय से फरार था.

Sanjeevani

दरअसल, किरण गोसावी वही है, जो आर्यन खान के साथ सेल्फी लेते दिखा था. हालांकि, इस मामले में उसने पहले कहा था कि वह लखनऊ में आत्मसमर्पण करेगा. गोसावी के कथित ड्राइवर व बाउंसर प्रभाकर सेल ने दावा किया था कि आर्यन को छोड़ने के बदले एनसीबी के एक अधिकारी, गोसावी व अन्य लोगों ने 25 करोड़ की मांग की थी.

MDLM

इसे भी पढ़ें : भागलपुर में गोड्डा विधायक अमित मंडल पर जानलेवा हमला, बालू चोर गिरोह पर आरोप

समीर वानखेड़े से पहले कभी नहीं मिला

किरण गोसावी ने बताया कि जिस दिन रेड हुई थी, उसी दिन सैम डिसूजा से उसकी मुलाकात और बातचीत हुई थी. उसने कहा कि वो 2 अक्टूबर से पहले कभी भी एनसीबी के दफ्तर नहीं गया था और ना ही समीर वानखेड़े को पहले कभी मिला था. उसने उन्हें सिर्फ टीवी पर देखा था.

क्रूज ड्रग्स पार्टी की पहले से जानकारी थी

उसने एनसीबी में जाने की वजह बताते हुए कहा कि वो इसलिए वहां गया था कि क्योंकि जहां पार्टी होने वाली थी, वो जगह एनसीबी ऑफिस से सिर्फ 400 मीटर दूर है. उसने जब ऑनलाइन सर्च किया तो तब उसे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ऑफिस का पता चला और वो वहां चला गया. गोसावी के अनुसार, मनीष भानुशाली को पार्टी के बारे में पहले से पता था. वो उस दिन मनीष के साथ था. इन दोनों ने एनसीबी को एक दिन पहले फोन किया था कि पार्टी होने वाली है.

गवाह पैसे के लिए काम नहीं करता

एनसीबी की जानकरी में सिर्फ 4 से 5 नाम थे. लेकिन हमारी जानकारी के मुताबिक 27 लोग पार्टी में आने वाले थे. एनसीबी को भी उनकी बात पर विश्वास था. गोसावी बोला- बहुत से लोग उसे गलत ही समझ रहे हैं. लेकिन जिनके घर में बच्चे ड्रग्स लेते हैं, उनके पैरेंट उसे अच्छा बोलेंगे. इस कारवाई के बाद मुंबई में ड्रग्स आना कुछ तो कम हुए ही हैं. किरण गोसावी बोला कि विटनेस पैसे के लिए काम नहीं करता. उसका इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिजनेस है. अगर विटनेस बनने में पैसा मिलता तो वह विटनेस का ही काम करता.

25 करोड़ की डील का आरोप गलत

किरण गोसावी का कहना था कि जो भी उसने लिख कर दिया है, वो सारी चीजें में वो कोर्ट में बोलेगा. उसने बताया कि पुणे में उसके खिलाफ एक केस चल रहा है. उसी केस में वह सरेंडर चाहता है. उसके मुताबिक यह 4 साल पुराना केस है. जिसे ओपन किया गया है. लेकिन फिर भी उसे कोई दिक्कत नहीं है.  किरण गोसावी का दावा है कि उसके बॉडीगार्ड रहे प्रभाकर सेल जो भी बातें की हैं, जिनमें पच्चीस करोड़ और कुछ फ्लाइट संबंधी बातें भी हैं. उसमें सच्चाई नहीं है. उसने कहा कि प्रभाकर का मोबाइल लोकेशन और उसका कॉल रिकॉर्ड चेक किया जाए. जो दलीलें उसने दी हैं. उसकी जांच की जानी चाहिए.

धोखाधड़ी मामले में चल रहा था फरार

2018 के धोखाधड़ी मामले में पुणे पुलिस द्वारा उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने के बाद से फरार गोसावी ने दावा किया था कि महाराष्ट्र में उसकी जान को खतरा है. प्रभाकर सेल के इस दावे के बाद एनसीबी के स्वतंत्र गवाह गोसावी ने बीते सोमवार को कहा था कि वह जल्द ही महाराष्ट्र के बाहर लखनऊ में आत्मसमर्पण करेगा और सब कुछ स्पष्ट हो जाएगा. गोसावी ने कहा था कि आर्यन खान की गिरफ्तारी पर उसे धमकी दी जा रही थी और कॉल आ रहे थे. प्रभाकर सेल के आरोप पर गोसावी ने कहा था कि सभी आरोप झूठे हैं, सेल ने कहानियां गढ़ी हैं और वह जांच की दिशा बदल रहा है.

आर्यन खान के साथ सेल्फी हुआ वायरल

गौरतलब है कि आर्यन खान की हिरासत के दौरान गोसावी शाहरुख खान के बेटे के साथ सेल्फी क्लिक करते हुए दिखा था. गोसावी एक निजी जासूस भी है. वहीं पुणे पुलिस धोखाधड़ी के एक मामले में गोसावी की तलाश कर रही थी. अब देखना होगा कि गोसावी पुलिस की पूछताछ में आर्यन खान केस से जुड़े मसलों पर क्या खुलासा करता है.

Related Articles

Back to top button