West Bengal

शोभन-बैसाखी से मिले मुकुल, कहा- सब कुछ ठीक है

Kolkata: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में रहने के बावजूद कथित तौर पर नाराज चल रहे कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी और बैसाखी बनर्जी के साथ पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल रॉय ने सोमवार देर रात दिल्ली स्थित अपने आवास पर बैठक की. तीनों के बीच करीब साढ़े तीन घंटे तक बातचीत हुई. इसकी जानकारी खुद मुकुल रॉय ने दी है. उन्होंने इस मुलाकात का एक वीडियो भी जारी किया है, जिसमें देखा जा सकता है कि एक सोफे पर बैसाखी और शोभन बैठे हैं तथा दूसरे पर मुकुल रॉय.

इसे भी पढ़ें – दुर्गापुर : उपमेयर की बेटी और नाती का नाम एनआरसी में नहीं, 10 साल पहले हुई है शादी

advt

खबर है कि भाजपा से शोभन और वैशाखी की नाराजगी, उनकी शिकायतों और उनकी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा हुई है. तीनों ने पार्टी की गतिविधियों को लेकर विस्तार से बातचीत की है. इस बारे में मुकुल ने बताया कि पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के निर्देश पर वह दोनों से मिले. उन्होंने कहा कि जब वह दिल्ली पहुंचे तो उन्हें पता चला कि शोभन और बैसाखी भी यहीं पर हैं इसलिए उन्हें अपने घर भोजन पर आमंत्रित किया. इस दौरान राजनीतिक भविष्य पर उनकी चर्चा चली.

इसे भी पढ़ें – रैगिंग : आसनसोल इंजीनियरिंग कॉलेज में सीनियर्स ने जूनियर्स की पिटाई की, विरोध में मारपीट व तोड़फोड़

उन्होंने दावा किया कि मीडिया में बैसाखी और शोभन की नाराजगी से संबंधित जो खबरें चल रही हैं वह निराधार हैं. मुकुल रॉय ने कहा कि जबसे उन्होंने राजनीति की शुरुआत की है तब से उनकी गाढ़ी दोस्ती शोभन चटर्जी से रही है. तीनों के बीच इनके भूतकाल, वर्तमान और भविष्य पर बातचीत हुई है. शोभन और बैसाखी की भाजपा से नाराजगी के बारे में स्थिति स्पष्ट करते हुए मुकुल ने कहा कि फिलहाल दोनों भाजपा में हैं और किसी तरह की कोई शिकायत नहीं है. हालांकि दोनों के भाजपा में बने रहने के बारे में स्थिति स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि भविष्य में क्या होगा यह सबके सामने रहेगा, इसे पहले से नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी सब कुछ ठीक है. वहीं जारी वीडियो में बैसाखी ने कहा कि वह शोभन चटर्जी के साथ यहां रात्रि भोज पर आयी थीं. तीनों के बीच प्रत्येक मुद्दे पर बातचीत हुई है. सब कुछ ठीक है.

उल्लेखनीय है कि कोलकाता के पूर्व मेयर ने गत 14 अगस्त को दिल्ली में बैसाखी बनर्जी के साथ भाजपा की सदस्यता ली थी. इसके बाद कोलकाता भाजपा द्वारा शोभन के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में बैसाखी को आमंत्रित नहीं करने को लेकर दोनों पार्टी से नाराज थे. इसे लेकर पिछले सप्ताह उन्होंने कैलाश विजयवर्गीय के साथ बैठक की थी और इस्तीफे की पेशकश कर दी थी. अब जबकि मुकुल रॉय ने दोनों से मुलाकात की है तो यह देखना होगा कि दोनों अब पार्टी छोड़ते हैं या बने रहते हैं.

इसे भी पढ़ें – बीरभूम:  नलहाटी में विस्फोटक भरा ट्रक जब्त, चालक समेत चार हिरासत में

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: