Ranchi

मुकेश जालान हत्याकांडः दस दिन बाद भी मामले का खुलासा नहीं कर पायी रांची पुलिस

Ranchi: मुकेश जालान हत्याकांड में पुलिस के हाथ अब भी खाली है. गौरतलब है कि सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के किशोरगंज रोड में 6 फरवरी की देर रात महिंद्रा फाइनेंस में काम करने वाले मुकेश जालान हत्या कर दी गयी थी.

हत्या के दस दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अपराधियों तक नहीं पहुंच पायी है. ना ही हत्या के पीछे की वजह ही साफ हो पायी है. बता दें कि दो बाइक पर सवार होकर आए छह अपराधियों ने मुकेश जालान को गोली मारी थी.

इसे भी पढ़ेंः#Palamu: अधिवक्ताओं के न्यायिक कार्य बहिष्कार का व्यापक असर, 5 हजार मामलों की नहीं हो सकी सुनवाई

अलग-अलग बिंदुओं पर जांच कर रही पुलिस

मुकेश जालान हत्याकांड के मामले में रांची पुलिस महिंद्रा फाइनेंस से किसी प्रकार का विवाद या प्रेम-प्रसंग से जुड़े विवाद के बिंदू पर जांच कर रही है. मुकेश के परिजनों ने पुलिस को बताया है कि करीब 8 साल से मुकेश महिंद्रा फाइनेंस कंपनी में काम करते थे.

फाइनेंस के अलावा सीजर विभाग का भी काम देखते थे. इसलिए पुलिस किसी सीजर के मामले का विवाद भी खंगाल रही है, हालांकि परिजनों ने अबतक किसी भी प्रकार के विवाद होने की बात से इनकार किया है. हत्या से संबंधित सीसीटीवी फुटेज पुलिस के पास है, लेकिन दस दिन बीत जाने के बाद भी रांची पुलिस इसका खुलासा नहीं कर पायी है.

जांच के लिए एसआइटी टीम गठित

मुकेश जालान की हत्या की जांच एसआइटी टीम का गठन किया है. एसएसपी अनीश गुप्ता ने सिटी एसपी सौरभ के नेतृत्व में टीम का गठन किया है. इसमें हटिया एएसपी विनीत कुमार, कोतवाली डीएसपी अजीत कुमार विमल, सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह, सदर डीएसपी दीपक पांडेय, साइबर डीएसपी यशोदरा, सुखदेवनगर थानेदार, कोतवाली थानेदार, हिंदपीढ़ी थानेदार व अरगोड़ा थाना प्रभारी शामिल है.

इसे भी पढ़ेंःबिजली चोरी मामले में ACB ने 2014 में मांगी थी स्वीकृति, सरकार बदलने के बाद हुई कार्रवाई

घटना में शामिल अपराधियों को जल्द से जल्द पकड़ने का निर्देश दिया गया है. रांची पुलिस मुकेश जालान के फोन का सीडीआर और हत्या के समय घटनास्थल के समीप कॉल डंप से हत्यारे तक पहुंचने का प्रयास कर रही है.

क्या है मामला

बता दें कि 6 फरवरी की रात करीब 10:30 बजे मुकेश जालान अपने गाड़ीखाना स्थित दुकान से पैदल ही किशोरगंज रोड नंबर-पांच स्थित किराये के मकान में जा रहे थे़. जब वह किशोरगंज रोड नंबर-1 पहुंचे, तभी दो बाइक पर आये छह अपराधियों ने उन्हें एक गोली मार दी.

बाद में स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी घरवालों को दी. जिसके बाद में लोगों की मदद से घरवालों ने उन्हें सेवा सदन अस्पताल में भर्ती कराया, वहां से मुकेश को ऑर्किड अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित किया.

इसे भी पढ़ेंःदो वर्षों में भी नहीं मिले सौ दावेदार, इंतजार में बैठा रहा खेल विभाग

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: