JamshedpurJharkhand

साहिबजादों के लिए अरदास में शामिल हुए सांसद, ‘वीर बाल दिवस’ नाम में संशोधन का आया प्रस्ताव

Jamshedpur : वीर बाल दिवस कार्यक्रम दूसरे दिन साकची गुरुद्वारा साहिब में सरदार गुरदेव सिंह राजा एवं सह संयोजक सुरिंदर सिंह शिंदे के नेतृत्व में कार्यक्रम संपन्न हुआ. जमशेदपुर के सांसद विद्युत बरण महतो गुरु महाराज जी के समक्ष चारों साहिबज़ादों के लिए की गयी अरदास में शामिल हुए. कार्यक्रम में झारखंड गुरुद्वारा कमिटी के प्रधान सरदार शैलेंद्र सिंह एवं अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष सरदार गुरदेव सिंह राजा ने सिख समाज द्वारा वीर बाल दिवस के नाम में संशोधन की मांग से सांसद को अवगत कराया सांसद ने आश्वस्त किया कि वह प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर समाज की भावनाओं से अवगत करायेंगे और दिल्ली जाने पर उनके समक्ष इन बातों को रखेंगे. संगत को संबोधित करते हुए विद्युत वरण महतो ने कहा कि इतनी छोटी आयु में ऐसा पराक्रम शायद ही किसी ने दिखाया होगा. गुरु के चारों लालों ने अदम्य साहस का परिचय देकर शीश नहीं झुकाया और धर्म और राष्ट्र के लिए बलिदान हो गये. कार्यक्रम के संयोजक गुरदेव सिंह राजा ने कहा कि सिख समाज चारों साहिबज़ादों के सम्मान में प्रधानमंत्री की ऎतिहासिक घोषणा की सराहना करता है  सरदार शैलेंद्र सिंह ने कहा कि सिख समाज वीर बाल दिवस के नाम में संशोधन करते हुए उसे “चारों साहिबजादे दिवस” या “वीर साहिबजादे दिवस” करने का प्रस्ताव करता है, जो और अधिक सम्मानजनक होगा.

Advt

पोस्ट कार्ड वितरण कर हस्ताक्षर अभियान चलाया

अरदास के बाद गुरु का प्रसाद बांटा गया. इसके बाद गुरुद्वारा साहिब के बाहर सिख संगत के बीच पोस्ट कार्ड वितरण कर हस्ताक्षर अभियान चलाया गया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद किया गया. कार्यक्रम में मुख्य रूप से साकची गुरुद्वारा के प्रधान हरविंदर सिंह मंटू, अजीत सिंह गंभीर, अवतार सिंह सोय, जसवंत सिंह, सुखविंदर सिंह निक्कू, वजीर सिंह, दीपक गिल,जिला मंत्री मंजीत सिंह, अमरजीत सिंह राजा, सोनू बिंद्रा, बबलू बिंद्रा, दलजीत सिंह, अमरीक सिंह, सुरजीत सिंह काले, रविंदर सिंह रिंकू,  ध्रुव मिश्रा, निर्मल दीक्षित, हेमंत साहू, रंजीत सिंह, रॉकी सिंह, सुखविंदर सिंह साब्बी, युवराज सिंह, रिकराज सिंह, सुरिंदर सिंह शिंदे, चंचल भाटिया, इंदरजीत सिंह इंदर, बॉबी सिंह, गुरप्रीत सिंह प्रिंस, धर्म सिंह वालिया, संदीप शर्मा बॉबी, गुरजिंदर सिंह पिंटू, पोली सिंह, हरजीत सिंह, उधम सिंह, रेशम सिंह अमन सिंह, रंजीत सिंह एवं अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – कोर्ट के फैसले से भावुक शुभम के पिता ने कहा- फैसले से संतुष्ट, लेकिन हत्यारे को फांसी होती तो तसल्ली मिलती

Advt

Related Articles

Back to top button