न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

संसद में जिस एमपी का परफॉरमेंस था बेहतर वहीं किये गये किनारे, दो का कटा टिकट-दो रडार पर

3,479
  • बीजेपी सांसद रवींद्र पांडेय व रामटहल चौधरी का एटेंडेंस था 90 फीसदी से ज्यादा, सवाल भी अधिक पूछे
  • दोनों सांसदों ने बहस में भी राष्ट्रीय औसत से अधिक बार लिया हिस्सा, फिर भी हुई अनदेखी

Ranchi: बीजेपी के जिन सांसदों को परफॉरमेंस संसद की कार्यवाही के दौरान बेहतर रहा, वही किनारे कर दिये गये. दो सांसद रामटहल चौधरी और रवींद्र पांडेय का संसदीय कार्यवाही में बेहतर परफॉरमेंस होने के बावजूद उनका टिकट कट गया.

वहीं दो सांसद जिनका परफॉरमेंस बेहतर है, वे भी रडार पर हैं. बीजेपी ने कोडरमा और चतरा सीट के लिये फिलहाल उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है. कोडरमा से रवींद्र राय और चतरा से सुनील सिंह सांसद हैं.

इसे भी पढ़ेंः मुद्रा योजना से जुड़े रोजगार के आंकड़ें अविश्वसनीय, मोदी सरकार ने दिये दोबारा जांच के आदेश

खूंटी के सांसद कड़िया मुंडा को टिकट नहीं मिलने की वजह दूसरी बताई जा रही है, लेकिन उनकी भी उपस्थिति 96 फीसदी रही. हालांकि कड़िया में एक भी सवाल नहीं पूछे. बहस में सिर्फ दो बार हिस्सा लिया. वहीं एमपी फंड से 16.87 करोड़ रुपये खर्च किये जो राष्ट्रीय औसत से अधिक है.

रांची सांसद रामटहल ने 624 सवाल पूछे

रांची सांसद रामटल चौधरी ने पांच साल में 624 सवाल पूछे. जबकि सवाल पूछने का राष्ट्रीय औसत 250 सवाल है. बहस में भी 82 बार हिस्सा लिया. इसका राष्ट्रीय मापदंड 65 रखा गया है.

वहीं इनका अटेंडेंस 96 फीसदी रहा. जो काफी अधिक है. अटेंडेंस का राष्ट्रीय औसत 68.49 फीसदी है. बावजूद इसके उन्हें टिकट नहीं मिला. चौधरी ने अब बगावती तेवर अपना लिया है.

इसे भी पढ़ेंःमैं नहीं लड़ूंगा लोकसभा चुनाव, किसी भी हाल में जीतेगा एनडीएः रवींद्र…

गिरिडीह सांसद रवींद्र पांडेय की उपस्थिति रही 91 फीसदी

गिरिडीह के सांसद रवींद्र पांडेय की उपस्थिति 91 फीसदी रही. यही नहीं उन्होंने संसद की कार्यवाही के दौरान 498 सवाल पूछे. 158 बार बहस में हिस्सा लिया.

एमपी फंड के 18.24 करोड़ खर्च भी किये. जबकि खर्च का राष्ट्रीय औसत 18.02 फीसदी है. कुल मिलाकर रवींद्र पांडेय का परफॉरमेंस राष्ट्रीय औसत से काफी अधिक रहा. बावजूद इसके वो किनारे कर दिये गये.

SMILE

कोडरमा सांसद रवींद्र राय हैं रडार पर

बीजेपी ने अब तक कोडरमा सीट से कैंडिडेट की घोषणी नहीं की है. वर्तमान में कोडरमा से रवींद्र राय सांसद हैं. संसदीय कार्यवाही के दौरान रवींद्र राय की उपस्थिति 81 फीसदी रही.

कार्यवाही के दौरान 391 सवाल पूछे. 58 बार बहस में हिस्सा लिया. हालांकि बहस में हिस्सा लेने का परफॉरमेंस राष्ट्रीय औसत से कम रहा. राष्ट्रीय औसत 65 है. जबकि खर्च में रवींद्र राय ने राष्ट्रीय औसत 18.02 करोड़ से अधिक 18.66 करोड़ रुपये खर्च किये.

इसे भी पढ़ेंःमैं नहीं लड़ूंगा लोकसभा चुनाव, किसी भी हाल में जीतेगा एनडीएः रवींद्र…

सुनील सिंह ने पूछे 608 सवाल, फिर भी सस्पेंस बरकरार

बीजेपी ने अब तक चतरा सीट से उम्मीदवार की घोषणा नहीं है. अब तक उम्मीदवारी को लेकर सस्पेंस बरकरार है. चतरा से वर्तमान में सुनील सिंह सांसद है. संसद की कार्यवाही में इनका भी परफॉरमेंस बेहतर रहा है.

सुनील सिंह की उपस्थिति 90 फीसदी रही. कुल 608 सवाल पूछे. 143 बार बहस में हिस्सा लिया. जो राष्ट्रीय औसत से कहीं अधिक है.

हालांकि खर्च के मामले में सुनील सिंह राष्ट्रीय औसत से पीछे रहे. उन्होंने एमपी फंड का 15.29 करोड़ रुपये की खर्च किया. जबकि राष्ट्रीय औसत 18.02 करोड़ रुपये है.

इसे भी पढ़ेंः 2017 में भारत में वायु प्रदूषण ने ली 12 लाख लोगों की जानः रिपोर्ट

इन चारों से कमजोर प्रदर्शन वालों को भी मिला टिकट

नामउपस्थितिसवालबहसखर्च(करोड़ में)
सुदर्शन भगत45002818.28
जयंत सिन्हा11109121.08
पीएन सिंह921844517.79

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: