न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

MP: अब पढ़ाई के साथ-साथ ‘आदर्श बहू’ की ट्रेनिंग, विवि ने शुरु किया तीन महीने का कोर्स

बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय ने शुरू किया एक शॉर्ट टर्म कोर्स

175

Bhopal: अगर आपको एक संस्कारी और आदर्श बहू की तलाश है, तो भोपाल के बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय आपकी मदद कर सकता है. दरअसल, विश्वविद्यालय ने ‘आदर्श बहू’ ‘तैयार’ करने के लिए एक शॉर्ट टर्म कोर्स शुरू किया है. तीन महीने का ये शॉट टर्म सर्टिफिकेट कोर्स अगले शैक्षणिक सत्र से शुरू हो जाएगा. यूनिवर्सिटी के प्रशासकों को ये यकीन है कि ये महिला सशक्तिकरण की दिशा में उठाया गया एक और कदम है.

इसे भी पढ़ेंःवन विभाग में अब तक 1100 करोड़ का पौधारोपण, करोड़ों का घपला, फाइल पर कुंडली मारकर बैठे अफसर

तीन महीने में ‘आदर्श बहू’ की ट्रेनिंग

एक अंग्रेजी के अखबार में छपी खबर के मुताबिक, यूनिवर्सिटी के उप कुलपति प्रो. डी.सी. गुप्ता ने बताया कि इस कोर्स के पीछे हमारा मकसद लड़कियों को शादी के बाद, नए घर के माहौल में सही ढंग से सामंजस्य बैठाने के लिए सजग करना है. आर्दश बहू के कोर्स को सही बताते हुए उन्होंने कहा कि एक विश्वविद्यालय का समाज के प्रति भी कुछ दायित्व होता है, सिर्फ शैक्षणिक गतिविधियों तक ही हम सीमित नहीं रह सकते हैं. हमारा उद्देश्य ऐसी दुल्हनें तैयार करना है जो परिवारों को एकजुट रख सकें.

इसे भी पढ़ेंःIAS, IPS और टेक्नोक्रेटस छोड़ गये झारखंड, साथ ले गये विभाग का सोफासेट, लैपटॉप, मोबाइल,सिमकार्ड और आईपैड

महिला सशक्तिकरण का हिस्सा

विश्वविद्यालय में शुरु किया जा रहा कोर्स मनोविज्ञान विभाग, समाज शास्त्र और महिला शिक्षा विभाग में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर होगा. उप कुलपति ने इसे महिला सशक्तिकरण का हिस्सा बताया. कोर्स की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि इस तीन महीने की ट्रेनिंग का मकसद है कि कोर्स पूरा करने के बाद लड़कियां परिवार के विभिन्न आयामों को समझने के लिए बेहतर स्थिति में हों.

जानें आखिर क्यों झारखंड से किनारा कर रहे आईएएस अधिकारी

पहले बैच में होंगी 30 लड़कियां

कोर्स की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पहले बैच में 30 लड़कियों को शामिल किया जाएगा. फिलहाल प्रबंधन इस कोर्स में दाखिले की योग्यताओं पर विचार कर रहा है. खबर है कि बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय लड़कियों के अभिभावकों से भी इस कोर्स के संबंध में फीडबैक लेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: