JharkhandRanchi

जनजातीय परिवारों के विकास के लिए JSLPS व वासन के बीच एमओयू

15000 परिवारों को लाभ

Ranchi: राज्य के विशिष्ट जनजाति समूह के परिवारों को झारखंड मिलेट मिशन के जरिए सशक्त आजीविका से जोड़कर विकास की मुख्यधारा में शामिल करने के लिए जेएसएलपीएस और वासन के बीच बुधवार को एमओयू साइन किया गया.

इस अवसर पर जेएसएलपीएस की सीईओ नैंसी सहाय और वासन के निदेशक डॉ सव्य साची दास ने एमओयू पर हस्ताक्षर किया. मिलेट मिशन के तहत आदिवासी परिवारों को मड़ुवा की उन्नत खेती से जोड़कर उनकी आमदनी बढ़ाने का कार्य किया जाएगा.

advt

इसे भी पढ़ेंःNDA में महिलाओं के प्रवेश पर आया ‘सुप्रीम’ ऑर्डर, नवंबर में होने परीक्षा में बैठने की इजाजत दे केंद्र

20 प्रखण्डों के जनजातीय परिवारों की आजीविका होगी बेहतर

इस पहल के जरिए राज्य के 20 प्रखण्डों में बैकयाड पॉल्ट्री के जरिए उद्यमिता का मॉडल स्थापित कर पीवीटीजी परिवारों की आमदनी बढ़ाई जाएगी. इस एमओयू से राज्य के 15000 परिवारों को लाभ होगा. कृषि उत्पाद के साथ विपणन और बाजार भी उपलब्ध कराया जाएगा.

इसे भी पढ़ेंःरेरा ने 10 प्रोजेक्ट के आवेदनों को किया रद्द

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: