JamshedpurJharkhand

प्रेमिका ने दूसरे प्रेमी के साथ मिलकर की थी मोथो माझी की हत्या, दोनों गिरफ्तार

Jamshedpur : गोविंदपुर थाना क्षेत्र के खैरबनी में मोथो माझी (36) की हत्या के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर लिया है. पुलिस ने इस मामले में मोथो की प्रेमिका दुलारी मुर्मू और उसके दूसरे प्रेमी दासो टूडू को गिरफ्तार किया है. उनके पास से मोथो का मोबाइल भी पुलिस ने बरामद किया है. इसके अलावा चार अन्य मोबाइल पुलिस ने बरामद किये हैं. वहीं, जिस रिस्सी से मोथो का गला गला घोंटा गया था उसके साथ पुलिस ने वह पत्थर भी बरामद कर लिया है जिससे मोथो को मारा गया था. बता दें कि मोथो माझी सालगाझारी नीचे टोला का रहनेवाला था. वह शादी-शुदा होने के बावजूद अपनी प्रेमिका दुलारी मुर्मू के साथ रहता था. इस हत्याकांड में पुलिस के हत्थे चढ़ी दुलारी का मायका मुसाबनी स्थित कोयलीसुता है, जबकि उसका दूसरा प्रेमी दासो टूडू गुड़ाबांधा के मुराठाकुरा का रहने वाला है. मामले की जानकारी देते हुए गोविंदपुर थाना प्रभारी धर्मेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि मोथो माझी की शादी सोमवारी मझिआइन के साथ हुई थी, लेकिन उसने लिखित रुप से गोविंदपुर थाना को बताया कि वह अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती थी. इसकी वजह मोथो का दुलारी से प्रेम करना और उसके साथ रहना था.

आंध्र प्रदेश में बनायी थी हत्या की योजना 

इधर दुलारी पिछले दिनों से आंध्रा प्रदेश में काम कर रही थी. वहां दासो भी काम करता था. उसी बीच दोनो में दोस्ती हो गई, जो जल्द ही प्यार में बदल गया. उसी दौरान दुलारी ने दासो को बताया कि उससे मोथो मांझी प्यार करता है और दोनों साथ रहते हैं. यदि वह मोथो को मार देगा तो वह उसके साथ शादी कर लेगी. उसके बाद दोनों ने मिलकर मोथो की हत्या की योजना बनाई.

 

SIP abacus

जमकर पिलायी शराब, धोखे से खैरबनी ले जाकर मार डाला

Sanjeevani
MDLM

फिर आंध्र प्रदेश से लौटने के बाद 13 जनवरी की रात दुलारी और दासो ने मोथो को खूब शराब पिलायी, फिर उसे धोखे से खैरबनी ले गये. वहां भी उसे शराब पिलायी गयी. जब मोथो पूरी तरह से नशे के गिरफ्त में आ गया तब उसकी बेरहमी से हत्या कर दी गई और शव वहीं फेककर दोनों भाग निकले. घटना सामने आ पर मोथो की पत्नी सोमवारी के बयान पर पुलिस ने थाना में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर किया था. उसके बाद अनुसंधान में पुलिस मामले की तह तक जा पहुंची और मोथो हत्याकांड से जुड़े सारे पहलु खुलकर सामने आ गए. पुलिस की गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों ने अपना अपराध स्वीकार किया है.

कांड के उद्भेदन में इनकी रही खास भूमिका

 

मोथो हत्याकांड के उद्भेदन में गोविंदपुर अंचल इंस्पेक्टर रामकुमार वर्मा, गोविंदपुर थाना प्रभारी धर्मेंद्र अग्रवाल, एसआई पंकज तिवारी, चंदन कुमार, पवन कुमार सिंह, हवलदार उपेंद्र सिंह, आरक्षी ज्ञानचंद्र यादव, सिपाही सोयरा भेंगरा और मीना कुमारी की खास भूमिका रही.

Related Articles

Back to top button