न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मां ने कराई बेटे के अपहरण की प्राथमिकी,अपहरण या साजिश जांच में जुटी साहेबगंज पुलिस

493

Sahibganj : जीरवाबाडी थाना क्षेत्र के गरगाया गांव की रहने वाली मंजू देवी नाम की एक महिला ने अपने बेटे के अपहरण की प्राथमिकी जीरवाबाडी थाना में दर्ज कराई है. महिला ने अपने बेटे के अपहरण करने आरोप बोरियो अंचल कार्यालय में कार्यरत उमेश मंडल पर लगाई है. पुलिस से गुहार लगाई है कि जल्द मेरे बेटे को सकुशल बरामद किया जाए.

 क्या है पूरा मामला  

जीरवाबाडी थाना क्षेत्र के गरगाया गांव के रहने वाली मंजू देवी नाम की एक महिला ने जीरवाबाडी थाने मे दिए आवेदन में कहा कि बोरियो अंचल कार्यालय में कार्यरत उमेश मंडल नाम के व्यक्ति के ऊपर अपने बेटे के अपहरण का प्राथमिकी दर्ज करवाई. महिला ने अपने लिखे आवेदन में कहीं की मेरे पति मोहन ठाकुर के आकस्मिक मौत हो जाने के कारण मुझे अपने परिवार के पालन पोषण में काफ़ी कठिनाई होती थी ऐसे में मेरे जिंदगगी में बोरियो अंचल में कार्यरत कर्मचारी उमेश मंडल आये और मुझे शादी का प्रलोभन देकर मेरे मांग में सिन्दूर भर दिया और मुझे अपने घऱ मुफ्सिल थाना क्षेत्र के महादेवगंज लाये और मेरे साथ रहने लगे. इस बीच जब मैं गर्भवती होती तो मरे से मारपीट करने लगते और गर्भपात करवा देते. ऐसा नहीं करने पर मेरे पहले पति से हुआ बच्‍चा को मारने की धमकी देने लगते.

बीए पार्ट-2 में पढ़ता है मेरा बेटा

मंजू देवी ने बताया की मेरा बेटा हेमलाल ठाकुर साहेबगंज महाविद्यालय मे बीए पार्ट 2 में पढ़ता हैं. वह प्रेमनगर में किराया के घर में रह कर पढ़ाई करता हैं. अपहरण के एक दिन पूर्व प्रेमनगर से उमेश मंडल ने हेमलाल ठाकुर को अपनी गाड़ी मे बैठाकर गंगा बिहार पार्क ले गया. वहां पहले से पांच-छह लोग मौजूद थे. उन्होंने उसे धमकी दी और कहा कि अपनी मां को समझा दो कि जैसा मैं कहता हूं, वैसा ही करे, नहीं तो अंजाम बुरा होगा. इसके बाद उसे धमकी देकर छोड़ दिया. घटना के तुरंत बाद मेरे बेटे ने मुझे फोन कर बताया कि मेरे साथ ऐसा घटना हुआ है. मुझे बहुत डर लग रहा है कि मेरे साथ कुछ अनहोनी न हो जाये.

silk_park

उसके बाद उमेश मंडल अपने भाई राजेश मंडल व संजय मंडल के साथ प्रेमनगर पहुंचा व हेमलाल ठाकुर को बुलाया और गाड़ी पर बैठाकर लें गया. उसके बाद आजतक मेरे बेटे हेमलाल ठाकुर का कुछ पता नहीं चला. जब भी अपने बेटे का बारे में पूछती तो वह मेरे साथ मारपीट करता और कहता कि बेटा आ जायेगा, लेकिन आज तक नहीं आया.

मामले में जीरवाबाडी थाना प्रभारी केदारनाथ सिंह ने बताया की मंजू देवी ने अंचल कर्मचारी उमेश मंडल के साथ-साथ उनके दो भाई राजेश मंडल व संजय मंडल को भी आरोपी बनाया है. पुलिस पूरे मामले की गहन जांच करवा रही है. मोबाइल का सीडीआर निकाला जा रहा है. पूरी तरह निष्पक्ष जांच कर प्राथमिकी दर्ज की जायेगी और अपह्त को सकुशल पुलिस बारामत करेगी.

इसे भी पढ़ें- किसानों से 1750 रुपये प्रति क्विंटल धान खरीदेगी सरकार, बोनस मिलने की भी संभावना

इसे भी पढ़ें- धनबाद : नाली के पानी से निगम करा रहा है ‘बीमारी’ की खेती

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: