ChatraCrime NewsJharkhandLead NewsMain SliderRanchi

गैंगस्टर सुजीत सिन्हा व अमन साव के लिए काम करने वाला मोस्टवांटेड प्रदीप गंझू गिरफ्तार

मगध आम्रपाली कोल परियोजना से रंगदारी वसूलने में था सक्रिय

Ranchi : मगध आम्रपाली कोल परियोजना से रंगदारी लेने में सक्रिय मोस्ट वांटेड प्रदीप गंझू पुलिस के हत्थे चढ़ गया है. पीएलएफआई से पूर्व में जुड़े रहे प्रदीप गंझू ने सुजीत सिन्हा और अमन साव गिरोह के लिए काम करना शुरू किया था. दिसंबर 2020 में बालूमाथ के तेतरियाखाड़ स्थित कोल साइडिंग पर पांच ट्रकों में आगजनी और फायरिंग में चार लोगों को जख्मी करने की घटना को प्रदीप गंझू ने ही अंजाम दिया था. हालांकि, अबी तक पुलिस ने गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं की है.

इसे भी पढ़ेः रांची में एक ही घर में दो नाबालिगों की हत्या, एक को डंडे से पीटकर दूसरे को फांसी के फंदे पर लटकाकर मार डाला

प्रदीप गंझू ने कोयला क्षेत्र में वसूली को लेकर व्यवसायियों के बीच दहशत पैदा कर दिया था. चतरा के पिपरवार, टंडवा, लातेहार के बालूमाथ और रांची के कोयला कारोबारी, लोडर, कोयला खनन में लगी कंपनी सैनिक समेत अन्य कोयला क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को पोस्टर लगा कर काम रोकने की धमकी दी गई थी. कहा गया था कि बगैर सुजीत सिन्हा गिरोह को मैनेज किए कोई काम न करें. रंगदारी नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दी गई थी. पोस्टरबाजी के बाद से ही प्रदीप गंझू पुलिस के निशाने पर था. प्रारंभिक सूचना के अनुसार चतरा से ही इसे गिरफ्तार किया गया है.

इसे भी पढ़ेः पढ़िये, आईपीएस अधिकारी अनीश गुप्ता ने कैसे दबोचा था 45 लाख के इनामी नक्सली संदीप को, अब मिलेगा वीरता पुलिस पदक

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: