Lead News

10 लाख के इनामी नक्सली कमांडर सुरेश मुंडा ने किया सरेंडर

दो लाख के इनामी लोदरो लोहार ने भी आत्मसमर्पण किया


Ranchi. 10 लाख के इनामी माओवादी जोनल कमांडर 10 लाख सुरेश सिंह मुंडा और उसके सहयोगी दो लाख के इनामी नक्सली लोदरो लोहार ने मंगलवार को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया. सुरेश सिंह मुंडा रांची के बुंडू थाना अंतर्गत बाराहातू का रहनेवाला है. सुरेश सिंह मुंडा पर 67 से ज्यादा मामले दर्ज हैं, जबकि लोदरो पर करीब 54 मामले दर्ज हैं. इन दोनों के आत्मसमर्पण के मौके पर आईजी अभियान एवी होमकर, एसटीएफ डीआईजी, सीआरपीएफ के अधिकारी मौजूद थे,

कुंदन पाहन का रहा है सहयोगी

Catalyst IAS
SIP abacus

10 लाख का इनामी नक्सली सुरेश सिंह मुंडा एक करोड़ के इनामी अनल दा दस्ते का प्रमुख सदस्य रहा है.जोनल कमांडर रहे कुंदन पाहन के लिए रांची व खूंटी इलाके में संगठन के लिए भी सुरेश सिंह मुंडा ने काम किया.

MDLM
Sanjeevani

चार जनवरी को मनोहरपुर के पूर्व विधायक गुरुचरण नायक पर हमले और अंगरक्षक के हत्या में सुरेश सिंह मुंडा भी शामिल था. विधायक के सुरक्षा तैनात दो जवानों की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी थी. जबकि एक जवान भागकर जान बचाया. चक्रधरपुर में कोबरा बटालियन पर हमला करने के मामले में भी सुरेश सिंह मुंडा शामिल था.

झारखंड पुलिस चला रही है विशेष अभियान

झारखंड पुलिस चार जोन में बांटकर नक्सलियों के विरुद्ध अभियान चला रही है. इनमें एक जोन है सारंडा का जो सबसे बड़ा है. इसमें सरायकेला-खरसांवा, खूंटी, रांची व पश्चिमी सिंहभूम का सीमावर्ती क्षेत्र, पारसनाथ क्षेत्र, गुमला, लोहरदगा व लातेहार का क्षेत्र तथा बूढ़ा पहाड़ क्षेत्र जिसमें गढ़वा, पलामू, लातेहार आदि की सीमा सटती है. इन क्षेत्रों में नक्सलियों का अलग-अलग गिरोह सक्रिय है. राज्य में चंद बड़े नक्सली ही पुलिस के लिए सिरदर्द बने हुए हैं. छिपकर वार करते हैं और पुलिस को लगातार चुनौती देते हैं.

Related Articles

Back to top button