न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जमीन विवाद व प्रेम-प्रसंग के चलते हो रही हैं अधिकतर हत्याएं

24

Ranchi: रांची में जमीन विवाद और लड़की के साथ प्रेम-प्रसंग की वजह से ज्‍यादातर हत्‍याएं हो रही हैं. जिस तरह जमीन विवाद के चलते जमीन कारोबारी सरेआम एक दूसरे की हत्या करवा रहे हैं, ठीक उसी तरह लड़की के साथ प्रेम प्रसंग के मामले में लड़की के परिजन और पूर्व प्रेमी लड़की के मौजूदा प्रेमी की हत्या करवा रहे हैं.

प्रेम-प्रसंग के चलते हो रही हैं हत्याएं

राजधानी रांची में साल 2018 में हुई हत्या की घटनाओं पर गौर करें तो कुछ ऐसी भी हत्याएं हुई हैं, जिनके पीछे प्रेम-प्रसंग का मामला सामने आया है. इन प्रेम-प्रसंग के मामलों में लड़का और लड़की दोनों की हत्याएं हुई हैं. हाल के दिनों में हुई रोशन मिर्धा, बाहा सांगा, खुशबू कुमारी, बबलू मुंडा, कमलेश सिंह और राकेश यादव की हत्या प्रेम-प्रसंग के चलते कर दी गयी.

लड़की के परिजनों और पूर्व प्रेमी के द्वारा करायी गयी हत्या

प्रेम-प्रसंग में हत्या के अधिकतर ऐसे मामले सामने आये हैं जिनमें लड़की के परिजन और पूर्व प्रेमी के द्वारा लड़की के मौजूदा प्रेमी की हत्या करवा दी जा रही है. जहां राकेश यादव की हत्या उसके प्रेमी के परिजनों ने करवा दी. वहीं रोशन मिर्धा की हत्या उसकी प्रेमिका के पूर्व प्रेमी ने कर दी. अवैध संबंध मामले में भी हत्या की घटनाएं देखने को मिलती हैं.

जमीन विवाद में भी रही हैं हत्याएं

झारखंड बनने के बाद राजधानी रांची सहित कई बड़े शहरों में जमीन की कीमत काफी बढ़ी है. जैसे-जैसे जमीन की कीमत आसमान छूने लगी, वैसे-वैसे ही इस धंधे में अपराधियों ने भी पांव पसारना शुरू कर दिया. सफेदपोश जमीन माफियाओं ने इस धंधे में सीधे न उतरकर अपने-अपने इलाके के कुख्यात अपराधियों को मोटी रकम देकर सपोर्ट लेना शुरू कर दिया. संपत्ति विवाद में होनेवाली कुल हत्याओं में आधे से अधिक जमीन विवाद के कारण होती हैं. इनमें जमीन कारोबारी, जमीन की दलाली करनेवाले, खरीददार और बिक्री करनेवालों के अलावा परिवार के सदस्यों द्वारा की गयी हत्याएं भी शामिल हैं. हालांकि पुलिस के अनुसार झारखंड में अधिकांश हत्याएं छोटे-छोटे विवादों की वजह से भी होती हैं.

प्रेम-प्रसंग को लेकर साल 2018 में कुछ प्रमुख हत्याएं

24 अगस्त 2018: रातू रोड स्थित आर्यपुरी में रहने वाले बीटेक के छात्र राकेश यादव की हत्या उसकी प्रेमिका के परिजनों ने शूटर के द्वारा करवा दी. इसके लिए 5 लाख की सुपारी देकर उत्तरप्रदेश से शूटर बुलाए गए थे.

5 मार्च 2018: 30 वर्षीय कमलेश सिंह, रातू थाना के आमटांड़ निवासी महज इसलिए मारा गया क्‍योंकि उस पर प्रेम प्रसंग का शक था.

3 अगस्त 2018: दोस्त का बर्थ डे मनाने गया बबलू मुंडा नाम के युवक, प्रेम-प्रसंग में हत्या कर दी गयी.

15 जनवरी 2018: हत्‍या का यह मामला गोंदा क्षेत्र के मिशन गली डैम साइड का है. पुलिस के मुताबिक, डैम साइड की रहने वाली खुशबू कुमारी की हत्या उसके प्रेमी मोहन वर्मा ने कर दी.

silk_park

20 नवंबर 2018: तुपुदाना ओपी क्षेत्र के चांद बस्ती में रहने वाले बाहा सांगा को उसके दोस्त सुक्रा सांगा ने एक निर्माणाधीन घर में पत्थर से कुचल कर हत्या कर दी. बताया जा रहा है कि मृतक बाहा सांगा का सुक्रा सांगा के पत्नी के संग अनैतिक सबंध था.

26 अगस्त 2018: नगड़ी थाना क्षेत्र के लालगुटवा में प्रेम संबंध में रोशन मिर्धा की गोली मार कर हत्या कर दी गयी. बताया जाता है कि व्यवसायी की प्रेमिका के पूर्व प्रेमी ने हत्या की घटना को अपने दोस्तों के साथ मिलकर अंजाम दिया था.

2018 में जमीन विवाद के कारण हुई मुख्य हत्याएं

4 नवंबर: कुख्यात अपराधी सोनू इमरोज की हत्या

7 सितंबर: सीएम आवास के सामने सरेशाम पुलिस के पूर्व एसपीओ बुधु दास की गोली मारकर हत्या. वजह बुंडू में जमीन विवाद.

17 सितंबर: रांची के बड़ा तालाब के पास मोहम्मद तबरेज उर्फ राजा की जमीन विवाद को लेकर गोली मारकर हत्या.

1 अगस्त: मात्र दो फीट की जमीन के झगड़े में मांडर में महावीर उरांव नाम के व्यक्ति की हत्या.

9 जून: कांके के जमीन कारोबारी जन्नत हुसैन की अपहरण के बाद हत्या.

3 अप्रैल: कांके थाना क्षेत्र के बुकरू चौक के पास जमीन विवाद में व्यवसायी मनोज कुमार साहू उर्फ मंटू की हत्या.

15 मार्च: चुटिया थाना क्षेत्र के पावर हाउस चौक निवासी रांची यूनिवर्सिटी के रिटायर्ड क्लर्क अरुण नाग की हत्या.

इसे भी पढ़ेंःकोलेबिरा उपचुनावः कांग्रेस प्रत्याशी विक्सेल कोंगाड़ी ने भरा पर्चा, जीत का किया दावा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: