Education & CareerJharkhandLead NewsRanchi

राज्य के चार शहरों में दो लाख से अधिक स्टूडेंट्स 31 जनवरी को देंगे केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा

सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन व मास्क संबंधी नियमों का पालन होगा अनिवार्य

Ranchi: देशभर के 135 शहरों में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET ) 31 जनवर को ली जायेगी. झारखंड से इस परीक्षा में दो लाख से अधिक अभ्यर्थी शामिल होंगे. यह परीक्षा सीबीएसई कि ओर से ली जा रही है. परीक्षा के आयोजन को लेकर दिशा निर्देश जरी कर दिये गये हैं. नेशनल काउन्सिल ऑफ टीचर्स एजुकेशन कि ओर केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा की वैधता को आजीवन करने के बाद यह पहली परीक्षा होने जा रही है.

परीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन, मास्क संबंधी नियमों का पालन किया जाना अनिवार्य किया गया है. साथ ही कहा गया है कि परीक्षा के दौरान एक कमरे में 12 अभ्यर्थियों के ही बैठने की व्यवस्था हो. परीक्षा केंद्रों में थर्मल स्क्रीनिंग के अलावा अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी करायी जायेगी.

इसे भी पढ़ें- रांची से नयी दिल्ली और पुणे के लिए स्पेशल ट्रेनें 5 फरवरी से

advt

इन दिशा निर्देशों का करें पालन

  • एडमिट कार्ड और फोटोयुक्त पहचान पत्र अपने साथ जरूर लायें.
  • अभ्यर्थियों को केंद्र पर परीक्षा से दो घंटे पहले रिपोर्ट करना है
  • परीक्षा शुरू होने के बाद किसी भी स्थिति में प्रवेश नही मिलेगा
  • ओएमआर आंसर सीट में व्हाइटनर का उपयोग, ओवरराइटिंग और कटिंग मना है.
  • परीक्षा शुरू होने से पांच मिनट पहले अभ्यर्थियों को टेस्ट बुकलेट की सील खोलने के लिए कहा जायेगा. अभ्यर्थी ये सुनिश्चित करें कि उनकी ओएमआर शीट पर दिया गया टेस्ट बुकलेट कोड और टेस्ट बुकलेट पर छपा कोड समान है या नहीं. इसका समान होना जरूरी है.
  • अभ्यर्थी अटेंडेंस शीट पर सही टेस्ट बुकलेट नंबर लिखें.
  • अभ्यर्थी परीक्षा में अपना बॉल प्वॉइंट पेन (काला/नीला) जरूरी लायें. पेंसिल का इस्तेमाल बिल्कुल न करें. ओएमआर शीट पर पेंसिल का इस्तेमाल मना है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड राज्य खनिज विकास निगम के कामकाज में पारदर्शिता की दरकार, राजस्व का हो रहा नुकसानः दीपक प्रकाश

सेनिटाइजर व पानी की पारदर्शी बोतल की ही अनुमति

परीक्षा के दौरान सभी अभ्यर्थियों को मास्क लगाना जरूरी है. सेनिटाइजर व पानी की पारदर्शी बोतल ले जाने की अनुमति मिलेगी. वहीं सभी अभ्यर्थियों के लिए कोरोना नेगेटिव होने का घोषणापत्र लाना अनिवार्य किया है.

अभ्यर्थियों को इस आशय का घोषणापत्र अपने साथ रखना होगा की उन्हें जुकाम, बुखार, सांस लेने में समस्या आदि नहीं है. परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय पूछे जाने पर घोषणापत्र दिखाना होगा. एडमिट कार्ड में दी गयी कोविड एडवाजरी को भी अच्छे से पढ़ें.

इसे भी पढ़ें : किसान आंदोलन में यूथ कांग्रेस की भूमिका तय करनी जरूरी : कुमार गौरव

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: