न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छह वर्षों में राजधानी के आठ से अधिक चौक-चौराहों का काम नहीं हुआ पूरा

अधिकतर काम पलामू के कांट्रैक्टर को दिया गया

40

Ranchi: राजधानी के आठ से अधिक चौक-चौराहों के सुदृढ़िकरण और सौंदर्यीकरण का काम पिछले छह वर्षों में भी पूरा नहीं हो पाया है. पथ निर्माण विभाग की तरफ से इन चौक-चौराहों के लिए 2012-13 में कार्यवाही शुरू की गयी थी. कांट्रैक्टरों का चयन होने पर भी चौक-चौराहे पुरानी स्थिति में ही हैं. यहां यह बताते चलें कि अधिकतर काम पलामू के ठेकेदारों को मिला हुआ है. इन चौकों में करमटोली चौक, सहजानंद चौक, रणधीर वर्मा चौक, काठीटांड़ चौक, न्यू मार्केट चौक बूटी मोड़, हरमू चौक रोड, कटहल मोड़-अरगोड़ा चौक समेत जुमार नदी पर पुल का निर्माण और नगड़ी रेलवे स्टेशन बालालोंग-कुदलोंग रोड का नाम शामिल है. इन चौक-चाराहों के बनने से राजधानी के प्रमुख चौक-चौराहों की स्थिति अलग ही रहती. इसी प्रकार एचबी रोड पर स्थित जुमार नदी पर पुल बनाने की योजना भी छह वर्षों में पूरी नहीं हो पायी.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – महिला की जलकर मौत, परिजनों ने कहा- कार मांग रहे थे ससुरालवाले, नहीं दे सके, तो जलाकर मार डाला

दो बार निकाला गया था करमटोली चौक के रिनोवेशन का काम

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

पथ निर्माण विभाग की तरफ से राजधानी के करमटोली चौक के रिनोवेशन का काम दो-दो बार निकाला गया था. 1.39 करोड़ से अधिक की लागत का काम पलामू के मुकेश कुमार और मेदिनीनगर के एएस कंस्ट्रक्शन को मिला हुआ है. इस चौक की स्थिति ज्यों की त्यों बनी हुई है. इसी तरह रणधीर वर्मा चौक के जीर्णोद्धार का काम पलामू के मुकेश कुमार को मिला हुआ है. चौक को सुदृढ़ बनाने के लिए 70.31 लाख रुपये खर्च किये जाने थे. राष्ट्रीय उच्च पथ-75 पर स्थित काठीटांड़ चौक पर काठीटांड़-दलादिली-कटहल मोड़ तक 62.89 लाख की लागत से सड़क चौड़ीकरण और पुनरुद्धार का काम किया जाना था. यह काम भी छह सालों से लटका हुआ है. योजना में 32.62 लाख रुपये भवानी कंस्ट्रक्शन मेदिनीनगर ने खर्च भी कर दिये हैं. इसी तरह न्यू मार्केट चौक बूटी मोड़ का काम भी रांची के ग्रीन पावर प्रोजेक्ट ने तीन साल में भी पूरा नहीं किया. इस पर 58.76 लाख रुपये खर्च होने थे. हरमू चौक न्यू-मार्केट से एचइसी गेट तक की सड़क और चौक विस्तार की योजना सरकार की धरी की धरी रह गयी. पलामू के संवेदक कंपनी एएस कंस्ट्रक्शन को यह काम मिला था. 2.95 करोड़ के काम की प्रगति शून्य है. कटहल मोड़ से अरगोड़ा चौक का सौंदर्यीकरण का काम 59 लाख में किया जाना था. इसमें भौतिक प्रगति मात्र 35 फीसदी है. संतोष कुमार सिंह इस योजना के संवेदक हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: