न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सदर अस्‍पताल के ब्लड बैंक में आवश्यकता से अधिक ब्लड

समय पर उपयोग नहीं हुआ तो, हो जायेंगे बर्बाद

46

Chandan Choudhary

 Ranchi : सदर हॉस्पिटल के ब्लड बैंक में आवश्यकता से अधिक ब्लड जमा है. यहां ब्लड लेने वाले पहुंच नहीं रहे है. ब्लड बैंक में लगभग 80 यूनिट ब्लड एक्स्ट्रा है. जिसे यदि 10 से 15 दिन में इस्तेमाल नहीं किया गया तो यह एक्सपायर हो जायेगा और फिर किसी के उपयोग लायक नहीं बचेगा. बैंक में आवश्यकता से अधिक ब्लड का होना ब्लड बैंक प्रभारी का सर का दर्द बना हुआ है. प्रभारी डॉ विमलेश ने बताया कि हाल ही में काफी ज्यादा ब्लड डोनेशन शिविर लगाया गया था, जिसमें काफी मात्रा में ब्लड जमा हो गये हैं. अगर समय पर इसे लोगों को उपलब्ध नहीं कराया गया तो इसे फेंकना पड़ेगा. डॉ विमलेश ने बताया कि सदर हॉस्पिटल के ब्लड बैंक के बारे में ज्यादातर लोगों को जानकारी नहीं है जिस कारण लोग यहां ब्लड लेने नहीं पहुंच रहे है. प्रतिदिन लगभग 10 यूनिट ब्लड का ही वितरण हो पाता है.

इसे भी पढ़ेंःरांची के इलाहाबाद बैंक से संयुक्त निदेशक राजीव सिंह के भाई ने फरजी दस्तावेज पर लिया कर्ज

बगैर एक्सचेंज किए पाये ब्लड : डॉ विमलेश

ब्लड की यूनिट ज्यादा होने के कारण ब्लड बैंक के प्रभारी डॉ विमलेश ने एक नया आदेश जारी किया है. जिसमें किसी मरीज को बगैर किसी एक्सचेंज किये ही ब्लड प्राप्त किया जा सकता है. मरीज के खून के लिए न कोई शुल्क जमा करना है और न ही किसी डोनर की जरुरत है. सिर्फ डॉ द्वारा लिखे पर्ची लेकर आने से ही मरीज या उनके परिजन को ब्लड दे दी जायेगी. डॉ विमलेश ने कहा कि ब्लड बर्बाद होने से अच्छा है कि वह किसी के काम आ जाये. इसे देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि जरुरतमंदों को बिना किसी एक्सचेंज के ही ब्लड उपलब्ध करा दिया जाये. अब तक लगभग 40 यूनिट ब्लड बिना एक्सचेंज किए जरुरतमंदों को उपलब्ध करा दिया गया है. उक्त निर्णय के बाद भी अगर ब्लड बचता है तो उसे रिम्स के ब्लड बैंक में जमा करा दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःदिवाली में 10 बजे रात के बाद पटाखा जलाया तो एक लाख रुपये का लगेगा जुर्माना 

इधर रिम्स में ब्लड के लिए रोज होती है मारामारी

इधर सूबे के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में ब्लड के लिए प्रतिदिन लोगों को परेशान होना पड़ता है. बगैर डोनेट किए ब्लड नहीं मिल पाता. कभी-कभी तो लोग ब्लड पाने के लिए दलालों के चंगुल में भी फंस जाते हैं और हजारों रुपए देकर भी खून लेना चाहते है. ऐसे में यदि सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में बिना किसी ऐक्सचेंज के खून उपलब्ध कराया जा रहा है तो यह गरीब मरीजों के लिए बड़ी राहत भरी खबर है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: