न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोरहाबादी : सफाईकर्मियों और एमएसडब्ल्यू के विवाद में फंसा कचरा उठाव, पांच दिनों से हड़ताल पर हैं सफाईकर्मी

389

Ranchi : मोरहाबादी स्थित कचरा ट्रांसफर स्टेशन के सफाईकर्मी और रांची एमएसडब्ल्यू (रांची नगर निगम और एस्सेल इन्फ्रा का ज्वॉइंट वेंचर) के विवाद में स्थानीय लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. विवाद के कारण पिछले पांच दिनों से इस एमटीएस के सफाईकर्मी हड़ताल पर हैं. इस कारण आसपास के इलाकों में कचरों का सही तरीके से उठाव नहीं हो पा रहा है. सबसे बड़ी बात यह है कि मेयर और डिप्टी मेयर ने अभी तक मामले पर अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. स्थानीय पार्षदों ने भी कंपनी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए मांग की है कि जल्द ही विवाद का समाधान नहीं होता है, तो इन इलाकों में गंदगी का पहाड़ खड़ा हो सकता है या महामारी फैल सकती है.

वेतन नहीं मिलने से हड़ताल पर हैं कर्मचारी, चार वार्डों में नहीं हुआ कचरे का उठाव

मोरहाबादी : सफाईकर्मियों और एमएसडब्ल्यू के विवाद में फंसा कचरा उठाव, पांच दिनों से हड़ताल पर हैं सफाईकर्मी
हड़ताल पर बैठे सफाईकर्मी.

मालूम हो कि जून महीने के बकाया वेतन का अभी तक भुगतान नहीं हो पाने के कारण मोरहाबादी एमटीएस के कर्मचारी पिछले पांच दिनों से हड़ताल पर हैं. इस एमटीएस में चार वार्डों 1, 2, 3, 4 के कचरे का उठाव किया जाता है. सफाई कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से मोरहाबादी, एदलहातू, हरिहर सिंह रोड, बरियातू रोड, चेशायर होम रोड आदि इलाकों में कचरे का उठाव नहीं हो पा रहा है.

इसे भी पढ़ें- निर्मल हृदय मामला : बेचे गये बच्चों और खरीदारों की तलाश में छापामारी कर रही पुलिस

किसी भी अधिकारी ने हमारी स्थिति पर कोई संज्ञान नहीं लिया है : सफाईकर्मी

हड़ताल पर बैठे सफाईकर्मी शम्सुल हक का कहना है कि किसी भी अधिकारी ने अभी तक उनकी स्थिति पर कोई संज्ञान नहीं लिया है. रांची एमएसडब्ल्यू के अधिकारी रविवार को उनके पास आये थे, लेकिन काम में जाने के लिए उन्हें थाना-पुलिस की धमकी देकर चले गये. उनका कहना था कि कोई बातचीत नहीं की जायेगी. कंपनी जिससे काम करना चाहे, उसी से करायेगी. मेयर, डिप्टी मेयर से मिलने के सवाल पर शम्सुल ने बताया कि मेयर और डिप्टी मेयर ने अभी तक इसपर कोई संज्ञान नहीं लिया है. सफाईकर्मियों के मुताबिक, मामले को लेकर जल्द ही सफाईकर्मी का प्रतिनिधिमंडल मेयर आशा लकड़ा से मुलाकात करेगा.

कचरा नहीं उठने से लोगों को हो रही परेशानी : पार्षद

मामले को लेकर वार्ड नंबर एक के पार्षद नकुल तिर्की ने न्यूज विंग से बातचीत में कहा कि कंपनी और सफाईकर्मी को जल्द ही एक सकारात्मक नतीजे तक पहुंचना चाहिए. अगर ऐसा नहीं होता है, तो इलाकों में कचरे का उठाव नहीं होने से महामारी फैलाने की स्थिति उत्पन्न होने का खतरा बन सकता है.

महीने की 6 से 7 तारीख तक वेतन मिले, इस पर चल रही है बात : नगर आयुक्त

हड़ताल को लेकर नगर आयुक्त शांतनु अग्रहरि का कहना है कि मामले की जानकारी उन्हें दी गयी है. वह देख रहे हैं कि दोनों पक्षों के बीच कोई सकारात्मक बात हो, ताकि जल्द ही हड़ताल को समाप्त किया जा सके. भविष्य में सफाईकर्मी हड़ताल पर नहीं जायें, इसके लिए निगम यह प्रयास करेगा कि महीने की 6 से 7 तारीख तक संभव हो, तो सफाईकर्मियों को वेतन मिल जाये.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: