Lead NewsNationalTOP SLIDER

Monsoon Session 2021: विपक्ष ने किया हंगामा, दोनों सदनों की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित

पीएम मोदी बोले- विपक्ष की मानसिकता महिला विरोधी

New Delhi : कोरोना संकट के बीच संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो गया. संसद पहुंच कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्षी सांसदों से कहा कि धारदार सवाल जरूर पूछें, लेकिन सरकार को जवाब देने का मौका भी दें. संसद के दोनों सदनों में कार्यवाही शुरू होते ही कोरोना की दूसरी लहर, महंगाई और चीन से जुड़े मामले और पत्रकारों-नेताओं की जासूसी को लेकर हंगामा शुरू हो गया. हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही पहले दोपहर 12:24 तक के लिए तथा बाद में 2 बजे तक के लिए स्थगित की गयी.

लोकसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में अपने मंत्रिपरिषद का परिचय दे रहे थे, तब हो रहे हंगामे के खिलाफ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आपत्ति जताई.

इसे भी पढ़ें :बिहार में शराबबंदी का सच, 6 मुखिया और पैक्स अध्यक्ष शराब के नशे में गिरफ्तार

advt

 

राजनाथ सिंह ने दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण बताया

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्होंने अपने 24 वर्षों के संसदीय जीवन में संसद में पहले कभी ऐसा नहीं देखा कि प्रधानमंत्री के मंत्रिमंडल विस्तार की जानकारी देने के दौरान हंगामा हुआ हो. उन्होंने कांग्रेस सदस्यों की नारेबाजी को दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

इसे भी पढ़ें :सिंदूरदान के समय बेहोश हुई दुल्हन, वरमाला-सेहरा फेंक कर भागा दूल्हा, देखें वायरल VIDEO

विपक्ष ने इन मुद्दों पर किया हंगामा

विपक्षी सांसदों के हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है. संसद के दोनों सदनों में कार्यवाही शुरू होते ही कोरोना की दूसरी लहर, महंगाई और चीन से जुड़े मामले और पत्रकारों-नेताओं की जासूसी को लेकर हंगामा शुरू हो गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सदन में अपने मंत्रिपरिषद का परिचय दे रहे थे, तब हो रहे हंगामे के खिलाफ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आपत्ति जताई.

इसे भी पढ़ें :दिल्ली में लालू प्रसाद से मिले जगदानंद सिंह, इस्तीफे की चर्चाओं के बीच दो घंटे हुई बातचीत

राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित

राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होने के साथ अभिनेता दिलीप कुमार और फ्लाइंग सिख मिल्खा समेत इस साल जान गंवाने वाले सांसदों और प्रसिद्ध हस्तियों को श्रद्धांजलि दी गई. राज्यसभा के पिछले दिनों दिवंगत हुए वर्तमान सदस्य डॉ. रघुनाथ महापात्र एवं राजीव सातव के सम्मान में उच्च सदन की बैठक सोमवार को एक घंटे के लिए दोपहर 12:24 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया.

इसे भी पढ़ें :बिहार में फिर कहर बरपा रहा चमकी बुखार, अब तक 10 बच्चों की मौत

हंगामे के बीच लोकसभा में पीएम का संबोधन

लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन शुरू हुआ. भारी हंगामे के बीच पीएम मोदी ने कहा,खुशी की बात है कि कई दलित भाई मंत्री बने हैं. हमारे कई मंत्री ग्रामीण परिवेश से है, लेकिन कुछ लोगों को ये रास नहीं आ रहा है.

इसे भी पढ़ें :कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट, जानें क्या है पूरा मामला

इन मुद्दों पर वार-पलटवार तय

विपक्ष ने सरकार पर कोरोना की दूसरी लहर के दौरान फैली अव्यवस्था, टीकों की कमी, लद्दाख से जुड़े एलएसी पर जारी तनाव, पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों और राज्यों की नई जनसंख्या नीति जैसे मुद्दों पर हमला करने की रणनीति बनाई है. संसद में सरकार पर एकजुट हमला बोलने के लिए कांग्रेस विपक्षी दलों के साथ लगातार संपर्क में है. जबकि सरकार ने इन मुद्दों पर पलटवार की तैयारी की है.

कोरोना मामले में सरकार ने पीएम केयर्स फंड का राज्यों द्वारा उपयोग न करने, टीका के संदर्भ में लगातार भ्रम फैलाने और राज्यों द्वारा पेट्रोल-डीजल पर भारी राजस्व वसूलने जैसे मामले को उठा कर पलटवार की तैयारी की है.

इसे भी पढ़ें :शर्मनाक : महिला से गुत्थमगुत्था होने पर उसके सीने पर बैठ गया दारोगा, वायरल हुआ VIDEO

संसद: ये बिल किए जाएंगे पेश

मानसून सत्र के दौरान सरकार की योजना 14 नए बिल पेश करने और तीन अध्यादेशों पर संसद की मंजूरी हासिल करने की है. इन तीन अध्यादेशों में से दो पर पहले से ही विवाद है. सरकार आवश्यक रक्षा सेवा अध्यादेश के जरिए सेना के लिए हथियार, गोलाबारूद, वर्दी बनाने वाले आयुध कारखानों में हड़ताल को गैरकानूनी घोषित कर दिया है. इसमें हड़ताल करने वालों के लिए दो साल की सजा का भी प्रावधान है. कई मजदूर संघों के साथ संघ का अनुषांगिक संगठन भारतीय मजदूर संघ ने भी इसका तीखा विरोध किया है. अब सरकार इस सत्र में इस अध्यादेश को कानूनी जामा पहनाने की तैयारी में है.

इसे भी पढ़ें :नवजोत सिंह सिद्धू की बल्ले बल्ले, बनाये गए पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष

इसके अलावा सरकार पराली जलाने की घटना पर लगाम लगाने के लिए जारी अध्यादेश को भी कानूनी जामा पहनाने की तैयारी में है. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और उसपास के क्षेत्र में पराली जलाने केलिए अध्यादेश में भारी जुर्माने और सजा का प्रावधान है. किसान संगठन लंबे समय से इसका विरोध कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :JUT : बगैर नियुक्ति नियमावली में संसोधन, 63 तकनीकी संस्थाओं का काम चल रहा जैसे तैसे

संसद में गूंजेगा पेगासस हैकिंग विवाद

संसद के मानसूत्र सत्र में इस बार सरकार और विपक्ष के बीच तीखी जंग होने के आसार हैं. सत्र शुरू होने से पहले विपक्ष के हाथ सरकार को घेरने के लिए एक बड़ा मुद्दा लग गया है. दरअसल, अंतरराष्ट्रीय मीडिया की ओर से दावा किया गया है कि पेगासस सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल से भारत में कई पत्रकारों, नेताओं और अन्य लोगों की जासूसी की गई. इस खुलासे के बाद संसद में हंगाम के पूरे आसार हैं.

विपक्षी पार्टियों ने लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों में इस विषय पर चर्चा की मांग की है और स्थगन प्रस्ताव दिया गया है. राज्यसभा में सीपीआई नेता बिनॉय विश्वम, राजद सांसद मनोज झा, आप सांसद संजय सिंह समेत अन्य कई सांसदों द्वारा इस विषय पर चर्चा की मांग की गई है. इन नेताओं के अलावा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर सरकार पर तंज कसा है. राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, ” हमें पता है ‘वो’ क्या पढ़ रहे हैं, जो भी आपके फोन में है. विपक्ष के तीखे तेवरों से साफ है कि इस मसले पर सरकार को संसद में सवालों का सामना करना पड़ सकता है.

इसे भी पढ़ें :देश में कोरोना से रोजाना जान गंवाने वालों की संख्या 500 के करीब पहुंची, जानें-24 घंटे में कितने मरीज मिले-कितने स्वस्थ हुए

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: