National

केरल पहुंचा मॉनसून, मौसम विभाग ने इस साल 96 फीसदी बारिश की संभावना जताई

NewDelhi : मॉनसून केरल पहुंच चुका है.  पूर्वानुमान की तुलना में लगभग तीन दिन देर से शनिवार, आठ  जून को मॉनसून केरल पहुंचा.  इससे पहले 2016 में भी आठ जून को ही मॉनसूनआया था. मौसम विभाग ने 12:30 बजे केरल के तटीय इलाकों में मॉनसून के पहुंचने की खबर की पुष्टि कर दी है.

अगले 48 घंटों में मॉनसून के जोर पकड़ने की संभावना जताई जा रही है.   केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम समेत चार जिलों में भारी बारिश के आसार को देखते हुए रेड अलर्ट जारी किया गया है.

2018 में सदी की सबसे भीषण बाढ़ झेल चुके केरल में इस बार मॉनसून से पहले खास तैयारियां की गयी हैं.   बता दें कि पिछले साल मॉनसून ने 29 मई को ही दस्तक दे दी थी.  मॉनसून  2014 में पांच जून, 2015 में छह जून और 2016 में आठ जून को आया था.

मॉनसून में देर से परेशान लोगों ने दक्षिण से उत्तर भारत तक देश के कई हिस्सों में  पारंपरिक तरीके से पूजा-अर्चना कर इंद्र देव को खुश करने की कोशिश की है.

इसे भी पढ़ेंः केरल के गुरुवायूर मंदिर में मोदी ने की पूजा, 112 किलो कमल फूल से तौले गए

कर्नाटक में बारिश के लिए सरकार ने मंदिरों में यज्ञ-हवन शुरू करवाये

मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार  नौ, 10 और 11 जून को केरल के त्रिशूर, एर्नाकुलम, मलप्पुरम, कोझिकोड में भारी बारिश के आसार हैं.  मीडिया रिपोर्ट्स में 13 जून तक मॉनसून के कर्नाटक पहुंचने की भी उम्मीद जताई गयी  है. कर्नाटक में बारिश के लिए सरकार ने भी मंदिरों में यज्ञ-हवन शुरू करवा दिये हैं.

राज्य सरकार के मंत्री भी मंदिरों में होने वाली पूजा में शामिल हौ रहे हैं.  देश की राजधानी दिल्ली तक मॉनसून एक  जुलाई को पहुंचने की उम्मीद है. बता दें कि  स्काई मेट ने इस साल 93 फीसदी और मौसम विभाग ने 96 फीसदी बारिश की संभावना जताई है.

इसे भी पढ़ेंः ईडी ने द क्विंट के संपादक राघव बहल के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: