JharkhandRanchi

कार्यशाला में अमेरिका से आयीं मोनिका ने कहा,  पूर्वी क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा देने की अपार संभावनाएं  

Ranchi :  भारत के पूर्वी क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा देने की अपार संभावनाएं है. इस क्षेत्र का पारिस्थितिकी तंत्र उद्यमिता के दृष्टिकोण से बेहतर है. यह बातें अमेरिका सेंटर की निदेशक और यूएस काउंसुलेट जनरल की पब्लिक अफेयर्स ऑफिसर मोनिका शिई ने कही. वे अमेरिका के काउंसुलेट जनरल कोलकाता और अटल बिहारी वाजपेयी इनोवेशन लैब के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रही थीं. पांच दिवसीय कार्यशाला का आयोजन इनोवेशन लैब में किया गया.

इस अवतर पर  मोनिका ने कहा कि हम पूर्वी भारत में उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र के हितधारकों की क्षमता का निर्माण करना चाहते है. विशेष फोकस महिला उद्यमियों पर केंद्रित करना है. ताकि उनकी संख्या बढ़ें. उन्होंने कहा कि पूर्वी क्षेत्र में युवा नेताओं की क्षमता को उजागर करने के लिए पेशेवरों, निवेशकों, स्थानीय और वैश्विक नेटवर्क को जोड़ना समय की आवश्यकता है.

इसे भी पढ़ें –महिला के साथ विधायक ढ़ुल्लू महतो ने की थी अश्लील हरकत,  HC ने DGP से पूछा क्यों नहीं दर्ज हुई प्राथमिकी

Catalyst IAS
ram janam hospital

बेहतर बिजनेस के लिए खुद को तराशना जरूरी

The Royal’s
Sanjeevani

अमेरिका से आये प्रशिक्षक डीटर ने जानकारी दी कि बेहतर बिजनेस के लिए जरूरी है कि लोग खुद को तराशें.  सिर्फ बिजनेस के लिए एक बेहतर आइडिया काफी नहीं है. बल्कि सहज, सरल और बेहतर व्यक्त्तिव भी जरूरी है. युवाओं को इन चीजों को समझना होगा. जितना बेहतर लोगों की संवाद क्षमता होगी, उतनी ही सफलता मिलेगी. डीटर ने कहा कि सिर्फ लोगों से बात करने की नहीं, बल्कि लोगों से अपनी बातें मनवाने की क्षमता भी होनी चाहिये. बता दें कि डीटर अमेरिका में 17 उद्यमी समूहों के साथ काम कर चुके है. विशेषकर महिला उद्यमियों के साथ.

बेहतर प्रतियोगी बनने के लिए देश विदेश से नेटवर्क बनायें

डीटर ने कहा की प्रतियोगिता हर क्षेत्र में है. बिजनेस के लिए यह सीमित नहीं रह सकती. समय के साथ अपडेट रहने के लिए जरूरी है कि देश विदेश में नेटवर्क बनायें. आयोजनों का लाभ संपर्क बनाने में करें. इस दौरान आइटी निदेशक और अटल बिहारी वाजपेयी इनोवेशन लैब के सीईओ उमेश प्रसाद साह ने कहा कि उद्यमियों को हर पल नये ट्रेंड और आइडिया से वाकिफ होना चाहिए. इस दौरान नेटवर्किंग, बातचीत, व्यापार शिष्टाचार, प्रभावी प्रस्तुति कौशल, लिफ्ट पिच और औपचारिक पिचों के बारे में बताया गया.

इसे भी पढ़ें – IPRD: प्रेस विज्ञप्ति बनाने के लिए पत्रकारों को नियुक्त करने वाली Dreamline Technology कंपनी सैलरी से ही काटती है GST

Related Articles

Back to top button