National

जाकिर नाइक के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस, ईडी ने जब्त की 50 करोड़ की संपत्ति

New Delhi: प्रवर्तन निदेशालय ने मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक के खिलाफ चार्जशीट दायर की है. मनी लॉन्ड्रिंग के मामले गुरुवार को चार्जशीट दायर करने के साथ-साथ 50.46 करोड़ की संपत्ति भी जब्त की गयी है.

इसे भी पढ़ेंःराहुल की रैली में आदिवासी महिलाओं ने लगाए मोदी जिंदाबाद के नारे, पूछा- हमारे नारे को नोट किया या नहीं 

193.06 करोड़ मनी लॉन्ड्रिंग आरोप

गिरफ्तारी के डर से देश छोड़कर विदेश भागे जाकिर नाइक पर कुल 193.06 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है. और कथित तौर पर इसका प्रयोग भारत एवं विदेशों में करोड़ों रूपये के रियल एस्टेट कारोबार में किया.

advt

ईडी ने मोहम्मद सलमान और उसके परिवार के सदस्यों की 73.12 लाख रुपए की संपत्ति को भी संलग्न किया है. यह पैसा आतंकी हाफिज मोहम्मद सईद और अन्य लोगों द्वारा उसे दिया गया.

आतंकियों को उकसाने का भी आरोप

ईडी ने मुंबई में एक विशेष अदालत में धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के तहत अभियोजन की शिकायत दायर की और कहा कि ‘नाइक के भड़काऊ भाषणों और व्याख्यानों ने भारत में कई मुस्लिम युवाओं को गैरकानूनी गतिविधियों और आतंकवादी कार्रवाईयों में शामिल होने के लिए प्रेरित और उकसाया है.”

इसमें कहा गया है कि, ‘उसके विचारों ने विभfन्न मतवालंबियों के बीच सौहार्द बिगाड़ा और घृणा उत्पन्न की है.’’ इस मामले में ईडी का यह दूसरा आरोपपत्र है. लेकिन नाइक के खिलाफ ऐसा पहला है जिसमें विशिष्ट तौर पर उसकी भूमिका का उल्लेख किया गया है.

इसे भी पढ़ेंःआचार संहिता उल्लंघन मामले में पीएम को क्लीन चिट, शाह को हत्यारा बताने वाले बयान पर राहुल को राहत

adv

इसमें कहा गया है कि नाइक ने भारत से विदेशों में धन भेजा और पुणे व मुंबई में अपने सगे संबंधियों के नाम से संपत्तियां खरीदीं. इसमें आगे बताया गया है कि, ‘‘जांच में यह भी पता चला है कि नाइक संदिग्ध नकदी हस्तांरण में भी शमिल रहा है.’’

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की एक प्राथमिकी के आधार पर ईडी ने 2016 में नाइक पर मामला दर्ज किया था. हाफिज सईद लश्कर-ए-तैयबा, जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इन्सानियत फाउंडेशन का संस्थापक है.

ईडी ने जाकिर नाइक और अन्य सहयोगियों के खिलाफ 22 दिसंबर 2016 को मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. वह फिलहाल मलेशिया में रह रहा है.

जाकिर के बहाने कांग्रेस पर पीएम का वार

इटारसी में एक आमसभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने जाकिर नाइक को बहाने कांग्रेस और भोपाल से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने श्रीलंका सरकार द्वारा वहां बम धमाके के बाद मुस्लिम उपदेशक जाकिर नाइक के टीवी चैनल पर लगाये गये प्रतिबंध का जिक्र करते हुए कहा कि केन्द्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने पुलिस अधिकारियों को आतंकवाद पर सम्बोधित करने के लिये उसे आमंत्रित किया था.

इसके साथ ही मोदी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्वियज सिंह पर उसके (नाइक) दरबार में जाकर उसकी तारीफ करने का भी आरोप लगाया.

इसे भी पढ़ेंःजयंत सिन्हा ने झारखंड में मॉब लिंचिंग के अभियुक्तों को न सिर्फ माला पहनायी बल्कि उन्हें आर्थिक मदद भी दी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button