न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोमो चैलेंज गेम मामला : बंगाल सीआईडी ने जारी किया सार्वजनिक नोटिस

सीआईडी ने बच्चों के माता-पिता को सलाह दी है कि वे अपने बच्चों को ऑनलाइन खेल खेलने से रोकें.

410

Kolkata: पश्चिम बंगाल सीआईडी ने सोमवार को सार्वजनिक नोटिस जारी करके लोगों को सलाह दी कि अगर उन्हें मोमो चैलेंज गेम खेलने का निमंत्रण मिलता है तो वह पुलिस से संपर्क करें.
अज्ञात लोगों की तरफ से घातक खेल खेलने के निमंत्रण मिलने की बढ़ती रिपोर्टों के मद्देनजर ट्विटर पर सीआईडी का नोटिस आया है. मोमो चैलेंज को सोशल मीडिया पर एक नया घातक खेल बताते हुए सीआईडी ने बच्चों के माता-पिता को सलाह दी है कि वे अपने बच्चों को ऑनलाइन खेल खेलने से रोकें.

इसे भी पढ़ें : ब्लू व्हेल के बाद अब मोमो चैलेंज ले रहा बच्चों की जान

अबतक राज्य में दो लोगों की जान जा चुकी है

नोटिस में कहा गया है,  कृपया अपने बच्चों को यह खेल नहीं खेलने के लिए जागरूक करें. इस खेल के बारे में किसी जानकारी/गतिविधि को स्थानीय पुलिस या पश्चिम बंगाल की सीआईडी से साझा करें.  मोमो चैलेंज ने अबतक राज्य में दो लोगों की जान ले ली है. इस बीच, पूर्व बर्दवान जिले के कारोबारी पार्थ बिस्वास ने आज पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि उन्हें मोमो गेम खेलने का निमंत्रण मिला है. कारोबारी ने नंबर को ब्लॉक कर दिया है और मामले की सूचना जिला पुलिस की साइबर सेल को दी है.

इसे भी पढ़ें – राज्य की पहली बर्खास्त महिला IAS ज्योत्सना ने सात साल से नहीं दिया है प्रोप्रर्टी का ब्योरा

क्या है मोमो चैलेंज गेम

जब किसी अनजान नंबर से अचानक आपको वाट्सऐप मैसेज आए तो सावधान हो जाइएगा. दो बड़ी-बड़ी गोल आंखें हो, जिसकी डरावनी सी मुस्कान हो. जिसका चेहरा हल्के पीले रंग का है तथा जिसकी टेढ़ी-मेढ़ी नाक है. यह तस्वीर, एक गेम चैलेंज का हिस्सा है, जो इन दिनों भारत में सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हैं. इस गेम चैलेंज का नाम है- मोमो चैलेंज. यह एक मोबाइल गेम है जो दिमाग के साथ खेलता है, डर का माहौल बनाता है और फिर जान ले लेता है. ये गेम अमरीका, अर्जेंटीना, फ्रांस, जर्मनी में फैल चुका है, इसकी दस्तक अब भारत में भी पहुंच चुकी है.

इसे भी पढ़ें – मुश्किल समय में हर बार प्रेरणा बनने का काम करती हैं आईएएस अफसरों के लिए किताबें

राजस्थान में भी हो चुकी है मौत

यह मामला राजस्थान के अजमेर की एक छात्रा की आत्महत्या के बाद संज्ञान में आया. 31 जुलाई को 10वीं क्लास की छात्रा ने आत्महत्या कर ली थी. छात्रा के परिवारवालों का आरोप है कि उसका मोबाईल देखने पर पता चला कि उसकी मौत का कारण मोमो चैलेंज नाम का गेम है. हालांकि अभी इस बात की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है. हालांकी अजमेर पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट किया कि मीडिया में चल रहा है कि वो बच्ची मोमो गेम खेलती थी. हम इसी बिंदु पर पड़ताल कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :  दिखावे की “चकाचौंध” में राज्य को डुबा तो नहीं रही “सरकार” ?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: