न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोमेंटम झारखंड: 3.10 लाख करोड़ के 210 MOU, गुजर गये 635 दिन- एक भी प्रोजेक्ट जमीं पर नहीं

6,02,326 लोगों को रोजगार देने का था दावा, निजी क्षेत्र में सिर्फ 25 हजार को ही रोजगार, अब ग्लोबल फूड समिट में 271 करोड़ के 50 प्रोजेक्ट का शिलान्यास

797

Ranchi: 635 दिन पहले मोमेंटम झारखंड के जरिये प्रदेश की तकदीर और तस्वीर बदलने का संकल्प लिया गया. यह संकल्प राजधानी के खेल गांव में 16 और 17 फरवरी 2017 को मोमेंटम झारखंड के मेगा शो में लिया गया था. इसके गवाह देश-विदेश के लगभग 11 हजार डेलीगेटेस बने थे. इनकी मौजूदगी में 3.10 लाख करोड़ के 210 एमओयू हुए. इसमें देशी और विदेशी कंपनियों ने झारखंड में निवेश करने की इच्छा जताई. अब सरकार ग्लोबल फूड समिट के तहत 271 करोड़ के 50 प्रोजेक्ट का शिलान्यास कर रही है.

635 दिनों में भी जमीं पर नहीं उतरा एक भी प्रोजेक्ट

मोमेंटम झारखंड में जिन 210 कंपनियों के साथ एमओयू हुआ. उनमें से अधिकांश कंपनियों को दो साल के अंदर प्रोजेक्ट जमीं पर उतारना था. बड़े प्रोजेक्ट के लिये तीन साल का समय दिया गया था. लेकिन मोमेंटम झारखंड के 635 दिन गुजर जाने के बाद भी एक भी एमओयू धरातल पर नहीं उतर पाया है. सिर्फ 55 कंपनियों का ही काम चल रहा है.

दावा था 6,02,326 रोजगार का मिला 25 हजार

मोमेंटम झारखंड में 6 लाख 02 हजार 326 को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुप से रोजगार देने का दावा किया गया था. इसमें 2,10,176 को प्रत्यक्ष और 3,92,150 को अप्रत्यक्ष रुप से रोजगार देने की बात कही गई थी. लेकिन सरकार के आंकड़ों के हिसाब से कुल 25 हजार लोगों को ही रोजगार मिल पाया है.

उद्योग व खान में 2,10,505 करोड़ का MOU

सबसे अधिक उद्योग व खान के क्षेत्र में 121 एमओयू हुए थे. इसमें 2,10,505 करोड़ रुपये का निवेश होना था. इसमें सिर्फ ओरियेंट क्राफ्ट और अडाणी के प्रोजेक्ट के साथ 55 एमओयू पर काम चल रहा है. बाकी एमओयू की स्थिति जस की तस है.

ये है सच्चाई

मोमेंटम झारखंड से पहले हुए एमओयू : 13
मोमेंटम झारखंड के दौरान हुए एमओयू : 210
मोमेंटम झारखंड के बाद हुए एमओयू : 44
कुल एमओयू : 267
कितने पर चल रहा काम- 55

Related Posts

100 रुपये में #IAS बनाता है #UPSC, #Jharkhand में क्लर्क बनाने के लिए वसूले जा रहे एक हजार

झारखंड में बनना है क्लर्क तो आइएएस की परीक्षा से 10 गुणा ज्यादा देनी होगी परीक्षा फीस.

किस क्षेत्र में कितने MOU और कितना निवेश

क्षेत्र                             एमओयू                            निवेश(करोड़ में)
कृषि                            01                                   1900
ऊर्जा                           09                                    37150
हेल्थ                             06                                    2060
उच्च शिक्षा                     16                                    3231
उद्योग व खान                 121                                  210505
आइटी                            30                                   8499
पर्यटन                            08                                   2273
ट्रांसपोर्ट                          01                                   50
नगर विकास                    18                                   44620

फैक्ट फाइव

मोमेंटम झारखंड मेगा शो में प्रिंट मीडिया पर खर्च हुए 7.68 करोड़
टीवी, रेडियो और डिजिटल मीडिया पर 21.41 करोड़ खर्च हुए
होर्डिंग्स और बैनर पर खर्च हुए 9.30 करोड़
आयोजन के लिए बजट था 7.44 करोड़ का, आयोजनकर्ता ने बिल थमाया 17.26 करोड़ का

कहां और किस मद में हुए खर्च

चार्टड फ्लाईट-    1,40,67,063
एयरपोर्ट लाउंज-   11,73,000
कंट्री फ्लैग्स-           45,562
ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट- 10, 35,000
अन्य-                  35,459.20
सीआईआई का कमीशन- 1,13,60,137.04

जानिये पारा शिक्षकों के लिए क्या है खुशखबरी

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: