NEWS

किंग्स इलेवन पंजाब के लिए तुरूप का इक्का साबित होंगे मोहम्मद शमी

New delhi :  अपनी घरेलू परेशानी से घिरे होने के बाद भी भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मो शमी ने अपनी फिटनेस से एक उदाहरण पेश किया है. आइपीएल में वे किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेल रहे हैं. मो शमी को इस समय बेहतरीन तेज गेंदबाजों में गिना जाता है. टीम के कोच चार्ल्स लैंगवेल्ट का मानना है कि टूर्नामेंट में वे (शमी) तुरूप का इक्का साबित होंगे. इसका कारण बताते हुए कहा कि शमी अलग स्तर की मेहनत करते हैं और इससे उनकी सफलता का ग्राफ काफी ऊंचा बढ़ गया है. उनकी तेज गति से आती स्विंग गेंदों को खेलना बल्लेबाजों के लिए काफी मुश्किल होगा.

इसे भी पढ़ें : नेपोटिज्म पर जॉन ने कहा- छाती पीटना और रोना मेरी फितरत नहीं, मैंने अपनी जगह खुद बनायी

advt

शमी अपनी गेंदबाजी की खुद समीक्षा कर सकते हैं

कोच चार्ल्स लैंगवेल्ट का कहना है कि मोहम्मद शमी के काम करने के तरीके से वे काफी प्रभावित है.  उनकी वजह से टीम में नयी ऊर्जा का संचार हुआ है. ट्रेनिंग के मामले में भी शमी काफी अनुशासित है. इस मामले में वह उदाहरण पेश करते हैं.  ट्रेनिंग सेशन के दौरान शमी काफी मेहनत करते हैं. किसी तरह की कोई शिकायत नहीं करते. इस मामले में वह अलग ही हैं. वह अपने काम का बोझ बहुत अच्छे से संभालते हैं. उनमें इतनी परिपक्वता भी आ गयी है कि वे अपनी ही गेंदबाजी की समीक्षा कर सकते हैं. मुझे लगता है कि उनका काम करने का तरीका युवाओं में उनके आदर्श बनाता है.

इसे भी पढ़ें : दिल्ली दंगाः 11 घंटे की पूछताछ के बाद JNU का पूर्व छात्र नेता उमर खालिद UAPA के तहत गिरफ्तार

UAE के गर्म माहौल में गेंदबाजों को होगी परेशानी

 इस बार संयुक्त अरब अमीरात (UAE)  में टूर्नामेंट होना है. वहां के गर्म हालात में गेंदबाजों और  बल्लेबाजों को काफी परेशानी होगी. वर्कलोड मैनेजमेंट पर काफी काम करना होगा. कोच चार्ल्स लैंगवेल्ट ने कहा, ‘यहां की गर्मी अब सहने लायक है. हमारे कुछ अभ्यास सत्र बचे हुए हैं. उससे हालात के प्रति अनुकूल होने में सहायता मिलेगी. इस तरह के टूर्नामेंट में एक गेंदबाज को सप्ताह में 80 से 120 गेंदें फेंकनी पड़ती है. लेकिन अगर किसी गेंजबाज को इससे ज्यादा गेंदे फेंकनी पड़ी तो यह चिंता का विषय हो सकता है. इसलिए वर्कलोड को मैनेज करना भी महत्वपूर्ण होगा.

टीम की गेंदबाजी में है विविधता

कोच ने कहा कि टीम के पास अच्छा गेंदबाजी आक्रमण है. मोहम्मद शमी शानदार है और गेंदबाजी की कमान वहीं संभालेंगे. वैसे भी पिछले सीजन में शमी टीम के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे. टीम की गेंदबाजी इकाई में विविधता है.

इसे भी पढ़ें : संसद का मॉनसून सत्र शुरू, मोदी की विपक्ष से अपील- जवानों के साथ एकजुट रहिये

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: