न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोदी सर्वाधिक लोकप्रिय नेता, तीन राज्यों में हार से भी भाजपा को खतरा नहीं : प्रशांत किशोर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हैं और तीन हिंदी भाषी राज्यों में मिली हार भाजपा के लिए खतरे की घंटी नहीं है.

1,285

Patna : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हैं और तीन हिंदी भाषी राज्यों में मिली हार भाजपा के लिए खतरे की घंटी नहीं है.  यह कहना है जदयू नेता प्रशांत किशोर का. वर्तमान में बिहार में जदयू और भाजपा गठबंधन की सरकार है. शुक्रवार को पटना में प्रशांत किशोर ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि भाजपा राम मंदिर को आधार बनाये बिना ही चुनाव जीत सकती है. सलाह दी कि अगले आम चुनावों में जीत के लिए भाजपा को अपने विकास के एजेंडे पर बने रहना चाहिए. बता दें कि 2104 के आम चुनाव में किशोर ने भाजपा के चुनावी अभियान में अहम भूमिका निभाई थी. प्रशांत किशोर भाजपा की राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हुई हार को लेकर अपनी बात रख रहे थे.  राजनीतिक हलकों में इन चुनावों को  2019 में होने वाले आम चुनावों का सेमीफाइनल कहा जा रहा था. राजनीतिक गलियारों से दखल रखने वाले लोगों का मानना है कि भाजपा इन चुनावों के लिए अब राममंदिर को प्रमुख मुद्दा बनायेगी.

भाजपा कह चुकी है कि राम मंदिर का मुद्दा राजनीतिक नहीं है

Related Posts

पी. चिदंबरम के घर पहुंची सीबीआइ-ईडी की टीम, घर पर नहीं मिले पूर्व मंत्री

दिल्ली हाइकोर्ट ने खारिज की है अग्रिम जमानत याचिका

SMILE

 भाजपा कह चुकी है कि राम मंदिर निर्माण का मुद्दा राजनीतिक नहीं है बल्कि यह आस्था का बात की है. प्रशांत किशोर के अनुसार आज भले ही भाजपा उतनी ताकतवर नहीं दिख रही, जितनी वह 2014 के चुनावों में थी, पर वह आज उससे कहीं अधिक ताकतवर है, जितनी वह 2004 में थी, जब उसने सत्ता गंवाई थी और 2009 में कांग्रेस से हार गयी थी.  राफेल मामले पर आये SC के फैसले पर पूछे गये सवाल के जवाब में कहा कि वह इस फैसले को लेकर अवगत नहीं हैं इसलिए वह इस पर कुछ कहना नहीं चाहेंगे.  उन्होंने यह भी बताया कि जदयू ऐसे युवा लोगों को अपने साथ जोड़ने का प्रयास कर रहा है जो योग्यता रखते हैं और राजनीति में आने की उनकी महत्वाकांक्षा है. किशोर ने कहा, हमारी योजना है कि अगले दो सालों में एक लाख ऐसे युवाओं को शामिल करें जो किसी राजनीतिक परिवार से तो नहीं आते पर उनके बेहतर सांसद और विधायक बनने की क्षमता है.   

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: