न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अपने गुनाहों को छुपाने के लिए सीबीआई का उपयोग कर रही है मोदी सरकार : सुबोधकांत सहाय

22

Ranchi : सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गये फैसले का कांग्रेस पार्टी ने स्वागत किया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने कहा कि शीर्ष न्यायालय के इस निर्णय से यह पुष्टि हो गयी है कि सीबीआई अब पूरी तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर काम कर रही है. आज का दिन देश के लिए एक काला दिन है, क्योंकि सीबीआई जो देश की एक स्वतंत्र संस्था के रूप में कार्यरत है, उससे मोदी सरकार ने अपने गुनाहों को छुपाने के लिए एक हथियार का काम किया है. इस दौरान यूथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कुमार गौरव की उपस्थिति में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अल्बर्ट एक्का चौक पर सरकार विरोधी नारेबाजी कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया. मीडिया को संबोधित करते हुए कुमार गौरव के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने “सीबीआई में शोर है चौकीदार चोर है” के नारे से प्रधानमंत्री पर जमकर हमला बोला.

इसे भी पढ़ें- ज्ञापन सौंप JMM ने कहा किसानों के प्रति संवेदनहीन है सरकार, हस्तक्षेप करें राज्यपाल

नये कार्यकारी निदेशक हैं भ्रष्टाचार में लिप्त : सुबोधकांत सहाय

कांग्रेसी नेता सुबोधकांत ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अब यह साफ है कि सीबीआई के अंदर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. सीबीआई के नये कार्यकारी निदेशक नागेश्वर राव को भी घेरते हुए उन्होंने कहा कि वह पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. देश के सभी भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारी अब मोदी के संरक्षण में सीबीआई में भर्ती हो रहे हैं. ऐसे अफसर के कारण ही आज सीबीआई मोदी सरकार से जुड़े लोगों के गुनाहों, उनके भ्रष्टाचार को छुपाने का सीधा काम कर रही है. इसके साथ ही देश के तमाम विपक्षी दलों को डराने- धमकाने का काम भी सीबीआई कर रही है.

मोदी सरकार में सीबीआई टूटकर बिखर रही है

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में आज सीबीआई पूरी तरह से टूटकर बिखरती जा रही है. यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान जब भी कांग्रेस सरकार ने सीबीआई को किसी तरह का जांच कार्य सौंपा, उस दौरान सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में यह जांच होती थी. ऐसे में कांग्रेस ने हमेशा से सीबीआई की स्वायत्तता को बरकरार रखा. इसके बावजूद मोदी सरकार ने आज सीबीआई और पीएमओ को अपने अंदर चला रखा है, जिससे सीबीआई की स्वायत्तता खत्म हो चुकी है.

इसे भी पढ़ें- उर्दू भाषा के प्रति उदासीन शिक्षा विभाग, HC के आदेश के बाद भी नहीं निकला नियुक्ति का विज्ञापन 

palamu_12

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने दिया है निर्देश

मालूम हो कि सीबीआई में चल रहे घमसान के बीच शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सीवीसी दो सप्ताह में मामले की जांच पूरी करे, वहीं सुप्रीम कोर्ट इस मामले को देखेगा. साथ ही कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि किस आधार पर आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजा गया है. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अंतरिम डायरेक्टर नागेश्वर राव कोई नीतिगत फैसला नहीं कर सकते हैं. वह सिर्फ रूटीन कामकाज ही देखेंगे.

इसे भी पढ़ें- ऐसी है झारखंड की विकास गाथा : केंद्र ने 14वें वित्त आयोग के पहले किस्त के 6.4 अरब दिये, राज्य ने…

मोदी सरकार में नहीं रही सीबीआई की स्वायत्तता : कुमार गौरव

यूपीए सरकार में क्या सीबीआई की स्वायत्तता बरकरार थी, इस सवाल पर यूथ कांग्रेस अध्यक्ष कुमार गौरव ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने हमेशा से सीबीआई की स्वायत्तता को बनाये रखा. जबकि, आज मोदी सरकार के कार्यकाल में सीबीआई निदेशक को गाजर-मूली की तरह काटकर फेंका जा रहा है. उन्होंने कहा कि भविष्य में जितनी भी विपक्षी पार्टियां यूपीए के समर्थन में आयेंगी, उनके खिलाफ यही मोदी सरकार ईडी और सीबीआई का छापा मरवाने का काम करेगी. बिहार, तेलंगाना राज्य की बात करते हुए उन्होंने कहा कि जिसने भी यूपीए में आने की बात कही, उसके घर पर मोदी सरकार ने छापा मरवाकर डराने का काम किया. ऐसे में आज मोदी सरकार में ही सीबीआई की स्वायत्तता पर बड़ा सवाल खड़ा हो गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: