National

सीआईएसएफ जवानों से कहा मोदी ने,  बस अब बहुत हो गया, आतंकवाद के मुद्दे पर चुप नहीं बैठेंगे

NewDelhi : आतंकवाद के मुद्दे पर चुप नहीं बैठने वाले हैं. बस, अब बहुत हो गया. हम लगातार नुकसान नहीं सह सकते है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने आज रविवार को सीआईएसएफ के 50वें स्थापना दिवस समारोह के मौके पर यह बात कही. कार्यक्रम में पुलवामा और उरी आतंकवादी हमलों का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि उनकी सरकार ने आतंक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है.   प्रधानमंत्री मोदी ने सुरक्षाकर्मियों की खुलकर तारीफ की.  सीआईएसएफ को देश और औद्योगिक प्रतिष्ठानों की सुरक्षा का आधार बताते हुए पीएम ने कहा कि वैभवशाली भारत के निर्माण में आपका योगदान अमूल्य है. साथ ही प्रधानमंत्री ने सीआईएसएफ में महिला सुरक्षाकर्मियों की बड़ी भागीदारी को भी देश के लिए महत्वूपूर्ण करार दिया. कहा कि वर्दी पहननेवाली बेटियों की संख्या सीआईएसएफ में सबसे ज्यादा है और मैं बेटियों के साथ उनकी माओं का भी अभिनंदन करता हूं.  गाजियाबाद में सीआईएसएफ कैंप में जवानों को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा,  आपके जिम्मे यात्रियों की सुरक्षा है. आपके हाथ में देश के औद्योगिक प्रतिष्ठान हैं.  किसी वीआईपी की सुरक्षा देने से कहीं बड़ा आपका काम है.

इसे भी पढ़ेंः पश्चिम बंगाल :  डील पक्की, कांग्रेस 17 व सीपीएम 25 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी

आप अपना काम मुस्तैदी से निभाते हैं,  मैं खुद इसका साक्षी हूं.

ram janam hospital
Catalyst IAS

आप अपना काम कितनी मुस्तैदी से निभाते हैं,  मैं खुद इसका साक्षी हूं. एक बार मेरे साथ एक बहुत बड़े नेता यात्रा कर रहे थे. एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच में कोई छूट नहीं दी गयी, वह बेहद नाराज हो गये. यह आपकी शक्ति और मुस्तैदी है कि आप सुरक्षा को इतना अहम मानते हैं.  मोदी ने सीआईएसएफ के मानवीय कार्यों और शांति काल में अहम भूमिका निभाने की तारीफ की.  उन्होंने कहा, आपका काम बहुत महत्वपूर्ण है. जब विदेशी देशों में आपदा आयी तो सीआईएसएफ के जवानों ने जान हथेली पर लेकर मदद की. कहा कि  नेपाल और हैती में हुए भूकंप में आपके राहत कार्यों की सराहना अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भी की.  जब पड़ोसी मुल्क लड़ने में सक्षम न हो तब वह आतंरिक सुरक्षा को नुकसान पहुंचाने का काम करता है.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंः लोकसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस से आगे भाजपा! राहुल गांधी अपने नेताओं से नाराज

यह आतंकवाद का दूसरा चेहरा है

यह आतंकवाद का दूसरा चेहरा है और ऐसे वक्त में भी आप देश को एकजुट रखने में जुटे रहते हैं.  आपदाओं की स्थिति में भी आपका योगदान हमेशा से सराहनीय रहा है. केरल में आयी भीषण बाढ़ में आपने राहत, बचाव के काम में दिन रात एक करके हजारों लोगों का जीवन बचाने में मदद की.  देश में ही नहीं विदेश में भी जब मानवता संकट में आयी है तब CISF ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाई है.  प्रधानमंत्री मोदी ने एक बार फिर सुरक्षा बलों के लिए सम्मान जताने की बात कही. उन्होंने कहा,  हम अपने सुरक्षा बलों का जितना गौरव बढ़ायेंगे. जितना सम्मान बढ़ायेंगे हमारे देश के लिए उतना अच्छा होगा.  एक सामान्य व्यक्ति किसी पुलिसवाले के द्वारा किये गये आचरण से ही पूरी पुलिस फोर्स और सुरक्षा बलों के बारे में राय बना लेता हैं, इसे बदलना बहुत जरूरी है.

इसे भी पढ़ें : एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान के परमाणु धौंस की कलई खुल गयी :  अरुण जेटली

Related Articles

Back to top button