Lead NewsNational

Modi New Cabinet: 8 मंत्रियों के पास एक करोड़ की संपत्ति भी नहीं, जानें कौन हैं सबसे अमीर

New Delhi : मोदी कैबिनेट का बुधवार को विस्तार हुआ है. इससे पहले कई मंत्रियों ने इस्तीफा भी दिया था. 43 सांसदों को मंत्री पद की शपथ भी दिलाई गई थी. नए मंत्रिपरिषद में कुल 15 कैबिनेट और 28 राज्य मंत्रियों को शामिल किया गया है. इनमें से 36 नए चेहरे है. मोदी कैबिनेट में शामिल हुए इन मंत्रियों में कुल आठ मंत्री ऐसे है जिनके पास कुल संपत्ति एक करोड़ रुपये की भी नहीं है. वहीं, चार ऐसे भी मंत्री शामिल है जिनके पास कई करोड़ की संपत्ति मौजूद है.

इसे भी पढ़ें :बिहार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान ने कहा, राजपूत थे हमारे पूर्वज

ये हैं सबसे अमीर औऱ ये हैं सबसे कम संपत्ति के मालिक

मोदी कैबिनेट के विस्तार के बाद इनमें शामिल हुए मंत्रियों की कुल संख्या 78 हो गयी है. नये बनाये गये मंत्रियों में सबसे अधिक संपत्ति के मालिक कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आये ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं. इनके पास करीब 379 करोड़ की संपत्ति है. इन्हें नागरिक उड्डयन मंत्रालय सौंपा गया है.

वहीं सबसे कम संप्ति मंत्री ओडिशा से बीजेपी महिला सांसद प्रतिमा भौमिक की है. इनकी संपत्ति 10 लाख से भी नीचे है. इन्हें पहली बार मंत्री पद दिया गया है.
ज्योतिरादित्य सिंधिया (नागरिक उड्डयन मंत्रालय) के पास 379 करोड़ की संपत्ति है. इन्हें नागरिक उड्डयन मंत्रालय सौंपा गया है.

इसे भी पढ़ें :Jharkhand: ग्रामीण इलाकों में 2, 81, 687 पीएम आवास लंबित, विभागीय सचिव ने 31 दिसंबर तक पूरा करने को कहा

पीयूष गोयल दूसरे सबसे अमीर मंत्री

दूसरे सबसे अमीर मंत्रियों में शामिल पीयूष गोयल को वाणिज्य और उद्योग मंत्री, उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री और कपड़ा मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है. इनके पास कुल 95 करोड़ की संपत्ति मौजूद है.

इसे भी पढ़ें :MS DHONI के IPL करियर पर बड़ी खबर, CSK सीईओ ने किया स्पष्ट कब तक खेलेंगे

तीसरे नंबर पर हैं ये पूर्व सीएम

मोदी कैबिनेट के तीसरे सबसे अमीर मंत्रियों में नारायण राणे भी शामिल है. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री रहे राणे के पास कुल 87.77 करोड़ की संपत्ति मौजूद है. इन्हें माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया है.

इसे भी पढ़ें :दिनेश कार्तिक से इंग्लैंड में हुई गाली-गलौज! सुबह जल्दी नहीं उठने के मुद्दे ने पकड़ा तूल

Related Articles

Back to top button