न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मालदीव में मोदी- देश के सर्वोच्च सम्मान ‘रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन’ से नवाजेगा मालदीव

दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी की पहली विदेश यात्रा, मालदीव से श्रीलंका जायेंगे पीएम

820

New Delhi: नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री निर्वाचित होने के बाद विदेश यात्रा पर मालदीव पहुंचे है. दूसरे कार्यकाल का पीएम मोदी का यह पहला विदेशी दौरा है.

मालदीव पहुंचने पर एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया गया. वहीं रिपब्लिक स्क्वेयर पहुंचने पर पीएम मोदी को राष्ट्रपति इब्राबिम मोहम्मद ने रिसीव किया.

इसे भी पढ़ेंःरिप्लिका इस्टेट ने आर्मी लैंड का पहले बनाया हुक्मनामा, फिर करायी रजिस्ट्री और म्यूटेशन करवा कर बेच दिया-3

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मालदीव की यात्रा के दौरान देश के सर्वोच्च सम्मान ‘रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन’ से सम्मानित किया जाएगा. मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने शनिवार को यह घोषण की.

पीएम के मालदीव पहुंचने से पहले मालदीव के विदेश मंत्री शाहिद ने ट्विटर पर कहा कि ‘द मोस्ट ऑनरेबल ऑर्डर ऑफ द डिस्टींगुइश्ड रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन’ मालदीव का सर्वोच्च सम्मान है जिसे विदेशी हस्तियों को दिया जाता है.

Related Posts

200 से ज्यादा लेखकों-सामाजिक कार्यकर्ताओं ने  पत्र जारी कर कहा,  जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल  370 हटाना असंवैधानिक

कार्यकर्ताओं ने जम्मू और कश्मीर को  दिया गया  विशेष राज्य का दर्जा खत्म करने के केंद्र के फैसले को अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक करार दिया है.

SMILE

उन्होंने ट्वीट किया कि मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने मोदी को सर्वोच्च सम्मान ‘द मोस्ट ऑनरेबल ऑर्डर ऑफ द डिस्टींगुइश्ड रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन’ से सम्मानित करने का निर्णय किया है. शाहिद ने ट्वीट में ‘नमस्कार और स्वागतम’ शब्द का भी इस्तेमाल किया.


इसे भी पढ़ेंःपूर्व मंत्री एनोस एक्का का सरकारी बंगला खाली कराया गया

इस दौरे में पीएम मोदी मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह से मुलाकात करेंगे. मोदी रविवार को श्रीलंका जाएंगे. वहीं मालदीव रवाना होने से पहले पीएम ने कहा, “मुझे विश्वास है कि मालदीव और श्रीलंका के मेरे दौरे से समुद्री क्षेत्र में स्थित हमारे पड़ोसियों के साथ हमारी निकटता और रिश्ते में और मजबूती आएगी. यह हमारी ‘पड़ोसी पहले नीति’ और क्षेत्र में सबकी सुरक्षा और विकास के हमारे नजरिए के अनुरूप होगी.” भारत का मालदीव के साथ गहरा ऐतिहासिक और सांस्कृतिक संबंध रहा है.

इसे भी पढ़ेंःतो क्या पांच उपमुख्यमंत्री की परिघटना राजनीति में नया समीकरण का आगाज साबित होगी ?

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: