National

 मोदी सरकार ध्यान भटकाओ और शासन करो की नीति पर चल रही है : अरुंधति रॉय

 NewDelhi : बुकर पुरस्कार विजेता लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता अरुंधति रॉय ने मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी निंदा की है. अरुंधति रॉय गुरुवार को संवाददाता सम्मेलन में गिरफ्तारी पर कहा कि आम जन को मुद्दों से भटकाने के मकसद से सरकार द्वारा गिरफ्तारी की गयी है. इस क्रम में अरुंधति रॉय ने आशंका जताई कि भाजपा 2019 के आम चुनाव में अचानक कुछ हमले कर सबकुछ बेपटरी करने की कोशिश करेगी. उन्होंने आम जन से इस कार्रवाई के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराने की अपील की. पीएम मोदी पर हमलावर होते हुए अरुंधति रॉय ने लोगों से कहा कि असामान्य घटनाएं होने की सूरत में भी वे अपना ध्यान न भटकने दें. कहा कि मोदी सरकार ध्यान भटकाओ और शासन करो का अनुकरण कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःबोकारो डीसी के फैसले से सरकार को होता 3.5 करोड़ का नुकसान, जिसे मिली थी कौड़ी के भाव जमीन उसी ने बढ़ायी बोली 

मेादी सरकार दलित, गरीब और अल्पसंख्यक विरोधी

हमें नहीं मालूम कि कहां, कैसे, कब और किस प्रकार का आग का गोला हमारे सामने गिरेगा. वे हमें भटकाना चाहते हैं. अरुंधति रॉय ने मेादी सरकार को दलित विरोधी, गरीबों और अल्पसंख्यकों का विरोधी बताते हुए नोटबंदी और वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू करने की नीतियों को लेकर सरकार पर निशाना साधा. सरकार पर आरोप लगाया कि गरीबों को नोटबंदी से भारी कष्ट भुगतना पड़ा है. कहा कि नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे कारोबारी हजारों करोड़ लेकर देश से बाहर भाग गये.

इसे भी पढ़ेंःराज्य के प्रधान मुख्य वन संरक्षक संजय कुमार की बोलती बंद, जनसंवाद में आरोपी अफसर पर नहीं दे पाये सही जवाब, सीएम बोले हटाओ डीएफओ को

Related Articles

Back to top button