न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकसभा चुनाव से पूर्व अंतरिम नहीं, पूर्ण बजट लाने की कवायद में मोदी सरकार   

मोदी सरकार नित नयी परंपरा कायम करने पर विश्वास करती रही है.  इस कड़ी में एक नयी परंपरा जोड़े जाने की खबर आ रही है. खबरों के अनुसार मेादी सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पूर्ण बजट ला सकती है

29

NewDelhi : मोदी सरकार नित नयी परंपरा कायम करने पर विश्वास करती रही है.  इस कड़ी में एक नयी परंपरा जोड़े जाने की खबर आ रही है. खबरों के अनुसार मेादी सरकार 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले पूर्ण बजट ला सकती है. सरकार ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी हैं. हालांकि परंपरा के अनुसार अभी तक लोकसभा चुनाव से पूर्व अंतरिम बजट पेश किये जाते रहे हैं. चुनाव के बाद सत्ता मे आयी नयी सरकार ही पूर्ण बजट पेश करती रही हैं. सूत्रों के अनुसार मोदी सरकार बजट को लेकर कुछ अलग करने की मगजमारी कर रही है. मिंट की खबर के अनुसार 2019 के चुनाव में दोबारा केंद्र में आने के भरोसे सरकार पूर्ण बजट पेश करने की सोच रही है.  इस बड़े बदलाव के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली के भाषण के लिए वित्त मंत्रालय ने केंद्रीय मंत्रालयों से सुझाव भी मांगे हैं.  एक बड़े अधिकारी इस खबर को सही बता रहे हैं.  

 एक फरवरी को पूर्ण बजट पेश किया जा सकता है

कहा गया है कि अगले साल एक फरवरी को पूर्ण बजट पेश किया जा सकता है. पूर्ण बजट पेश किये जाने के संदर्भ में एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि सरकार निरंतरता बनाये रखना चाहती है. सरकार चाहती है कि चुनाव के कारण विकास की रफ्तार धीमी न पड़े. अधिकारी के अनुसार मोदी सरकार 2018-19 का इकोनॉमिक रिपोर्ट कार्ड जारी कर सकती है. वैसे अभी तक इकोनॉमिक रिपोर्ट कार्ड चुनाव के बाद आयी सरकार द्वारा जारी करने की परंपरा रही है. सूत्रों के अनुसार वित्त मंत्रालय बजट की तैयारियों के मद्देनजर मीडिया की एंट्री तीन दिसंबर के बाद बैन कर देगा. जान लें कि वित्त मंत्रालय ने सभी मंत्रालयों को एक पत्र जारी किया है. इसमें जरूरी सूचनाएं और सुझाव मांगे गये हैं.  अरुण जेटली को बजट भाषण के लिए संबंधित सामग्री देने का भी आग्रह किया गया है. 

hosp1

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: