National

मोदी सरकार ने किया मंत्रिमंडल की विभिन्न समितियों का गठन, रोजगार के सृजन पर विशेष ध्यान

New Delhi: सरकार ने आर्थिक मामलों संबंधी समिति समेत मंत्रिमंडल की विभिन्न समितियों के गठन की बृहस्पतिवार को घोषणा की.

सरकार ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए निवेश एवं विकास पर और बेरोजगारी से निपटने के लिए रोजगार एवं कौशल विकास पर बुधवार को समितियां गठित की थीं.

इसे भी पढ़ेंःगिरिराज सिंह को नीतीश का जवाब- ‘दूसरों के धर्म का सम्मान नहीं करने वाले अधार्मिक’

आर्थिक विकास पर जोर

ऐसा शायद पहली बार है जब इन दोनों मुद्दों पर मंत्रिमंडल की समितियों का गठन किया गया हो. बुधवार को सुरक्षा पर भी समिति का गठन किया गया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समिति के अध्यक्ष होंगे और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इसके सदस्य होंगे.

यह समिति राष्ट्रीय सुरक्षा एवं विदेश मामलों से संबंधित मुद्दों को देखेगी. बृहस्पतिवार को जिन समितियों की घोषणा की गई, उनमें मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति (एसीसी) भी शामिल है जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री करेंगे और शाह अन्य सदस्य के तौर पर शामिल होंगे.

शाह आवास पर मंत्रिमंडलीय समिति की अध्यक्षता करेंगे. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, सीतारमण और रेल एवं वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल इसके सदस्य होंगे.

प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह और आवासन एवं शहरी कार्य मंत्री एवं नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी आवास समिति के विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक : मानदेय से नहीं सिलाई से चलता है घर, आंखों में है परेशानी पर आर्थिक तंगी में कैसे कराएं इलाज

सीसीईए की अध्यक्षता करेंगे पीएम

आर्थिक मामलों पर मंत्रिमंडल की प्रमुख समिति (सीसीईए) की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करेंगे और इसके सदस्यों के तौर पर राजनाथ सिंह, शाह, गडकरी, रसायन एवं उर्वरक मंत्री डी वी सदानंद गौड़ा, सीतारमण, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद, खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल शामिल होंगी.

सीसीईए में एस जयशंकर, गोयल एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी शामिल होंगे.

संसदीय मामलों पर मंत्रिमंडल समिति की अध्यक्षता शाह करेंगे और सीतारमण, उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान, तोमर, प्रसाद, सामाजिक न्याय मंत्री थावर चंद गहलोत, पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी इसके सदस्य होंगे.

यह समिति संसद का सत्र बुलाने के लिए तारीखों की सिफारिश करती है. संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और वी मुरलीधरन इसके विशेष आमंत्रित सदस्य हैं.

महत्वपूर्ण नीतिगत फैसलों पर सरकार की मदद करने वाली राजनीतिक मामलों पर मंत्रिमंडल समिति की अध्यक्षता प्रधानमंत्री करेंगे. शाह, गडकरी, सीतारमण, गोयल, पासवान, तोमर, प्रसाद, हरसिमरत कौर, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, भारी उद्योग मंत्री अरविंद सावंत और जोशी इसके सदस्य होंगे.

मंत्रिमंडलीय समितियों का गठन या पुनर्गठन तब किया जाता है, जब नयी सरकार काम-काज संभालती है या मंत्रिमंडल में फेरबदल होते हैं.

इसे भी पढ़ेंःCM रघुवर दास ने कहा- जनता ने लोकसभा चुनाव में वंशवाद और तुष्टिकरण को नकारा

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close