National

खुद को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का मालिक न समझे मोदी सरकार :  पी चिदंबरम

 NewDelhi : केंद्र सरकार खुद को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का मालिक समझती है.  पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने गुरुवार को यह आरोप लगाते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा. इस क्रम में कहा कि सरकार केंद्रीय बैंक की स्वतंत्रता को नहीं समझती है. बता दें कि लोकमत नेशनल कॉन्क्लेव में अपने विचार रखते हुए उन्होंने शक्तिकांत दास को आरबीआई का गवर्नर बनाने को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने चिंता जताई कि जो अधिकारी नोटबंदी का मुखर समर्थक था, उसे देश के केंद्रीय बैंक में मुख्य पद पर बैठा दिया गया. हालांकि उन्होंने उम्मीद भी जताई कि दास आरबीआई के अधिकारों और स्वायत्तता को समझेंगे.
चिदंबरम ने कहा कि मुझे इस बात की चिंता है कि दो व्यक्तियों को दो अहम पद पर नियुक्त किया गया और दोनों ही व्यक्ति नोटबंदी के मुखर समर्थक थे.  कहा कि मैं शक्तिकांत दास से अपील करता हूं. आप अब आरबीआई के गवर्नर हैं और आर्थिक मामलों के सचिव, वित्त आयोग के सदस्य नहीं हैं.

भाजपा को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए

आप देश के केंद्रीय बैंक के गवर्नर हैं, और इसलिए आपको केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता और अधिकारों को समझना होगा. जान लें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर हमलावर हुए हैं. कुछ दिन पहले ही उन्होंने पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला था. पी चिदंबरम ने कहा था कि कांग्रेस को विधानसभा चुनाव में भाजपा से ज्यादा सीटें मिली हैं और वह राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में सरकार बनायेगी. चेताया था कि किसी को भी उनका जनादेश हड़पने का प्रयास नहीं करना चाहिए. भाजपा को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए. चिदंबरम ने कहा कि सबके लिए एक सीख है. कठिन मेहनत को कम करके मत आंकिए. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा के धन और सत्ता बल के खिलाफ उन्होंने लड़ाई लड़ी और उन्हें जीत मिली.

 

advt

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button